Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

ममेरे भाई की हत्या की, फिर श्मशान में जलाया लाश, मौके पर पहंची पुलिस, मुंशी सहित तीन गिरफ्तार

राजधानी में बुधवार सुबह हत्या और फिर दिनदहाड़े लाश जलाने की घटना ने सनसनी फैला दी। युवक मंदिर हसौद इलाके का रहने वाला कमलेश साहू था। रिश्तेदारों ने ही इसका कत्ल कर लाश को ठिकाने लगाने की कोशिश की। हत्या के बाद लाश को बोरी में भरकर कार से वीरभद्र नगर स्थित मारवाड़ी श्मशान घाट पहुंचे रिश्तेदार युवकों ने मुंशी के साथ मिलीभगत कर लाश का अंतिम संस्कार भी कर दिया।

ममेरे भाई की हत्या की, फिर श्मशान में जलाया लाश, मौके पर पहंची पुलिस, मुंशी सहित तीन गिरफ्तार
X
हत्या (प्रतीकात्मक फोटो)

राजधानी में बुधवार सुबह हत्या और फिर दिनदहाड़े लाश जलाने की घटना ने सनसनी फैला दी। युवक मंदिर हसौद इलाके का रहने वाला कमलेश साहू था। रिश्तेदारों ने ही इसका कत्ल कर लाश को ठिकाने लगाने की कोशिश की। हत्या के बाद लाश को बोरी में भरकर कार से वीरभद्र नगर स्थित मारवाड़ी श्मशान घाट पहुंचे रिश्तेदार युवकों ने मुंशी के साथ मिलीभगत कर लाश का अंतिम संस्कार भी कर दिया।

इसकी भनक लगने पर 10 मिनट के भीतर काेतवाली पुलिस श्मशान घाट पहुंच गई। पुलिस अधिकारियों को देखकर वहां हड़कंप मच गया। मुंशी और आरोपी जीजा-साले भागने की कोशिश करने लगे। पुलिस ने उन्हें पकड़कर पूछताछ की तो युवक की लाश चिता पर जलना बताया। इसके बाद पुलिस ने पानी फेंककर आग बुझाई और लाश को बाहर निकाला।

पुलिस ने जीजा टीकाराम साहू, साला वेदकरन साहू और श्मशान घाट के मुंशी रविकांत साहू को हिरासत में ले लिया। जली हुई लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस का कहना है मृतक कमलेश साहू की लाश करीब 80 फीसदी तक जल चुकी है। दोनों युवकों ने गला दबाकर उसकी हत्या करना स्वीकार किया है।

आरोपी और मुंशी दोनों पड़ोसी

पुलिस के मुताबिक आरोपी सेरीखेड़ी भाठापारा निवासी वेदकरन साहू और नगपुरा चंद्रखुरी फार्म साहूपारा निवासी टीकाराम साहू ने रावांभाठा बंजारी धाम निवासी कमलेश साहू की मंगलवार रात गला दबाकर हत्या कर दी थी। इसके बाद आरोपियों ने मारवाड़ी श्मशान घाट के मुंशी चंद्रखुरी फार्म नगपुरा निवासी रविकांत साहू से मिलकर लाश को ठिकाने लगाने दाहसंस्कार कर रहे थे। उसी समय तीनों को पकड़ा गया।

9.30 बजे लाश लेकर पहुंचे थे श्मशान

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक वेदकरन साहू और टीकाराम साहू दोनों सुबह करीब 9.30 बजे लाश लेकर पहुंचे थे। लाश से खून बह रहा था। उनकी कार सीजी04-एच-4428 की सीट भी पर खून लगा था। दोनों बेहद परेशान थे। करीब 15 मिनट बाद ही मुंशी के कहने पर लाश को जलाने के लिए चिता पर रख दी गई। आरोपी वेदकरन साहू ने लाश में आग लगाई।

सीढ़ी से गिरकर मौत होना बताया

पुलिस के मुताबिक आरोपी वेदकरन साहू और टीकाराम साहू मारवाड़ी श्मशान घाट पहुंचने पर मुंशी रविकांत से मिले। मुंशी से अपने बचाव में कहा कि वेदकरन मृतक का सगा भाई है और शराब पीने का आदी है। वह मंगलवार रात शराब पीकर सीढ़ी से गिर गया था जिससे उसकी मौत हो गई है। मृतक की पत्नी उसे छोड़कर चली गई है और मां बूढ़ी हो गई है। शराब पीने की वजह से पड़ोसी भी मृतक से परेशान रहते थे इसलिए उसकी लाश के साथ कोई नहीं आया है।

तीन हिरासत में

मृतक कमलेश साहू की आरोपी वेदकरन और टीकाराम ने गला दबाकर हत्या की है। दोनों आरोपी और मुंशी रविकांत से पूछताछ की जा रही है।



Next Story