Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बिगड़ा मौसम, कई शहरों में बारिश-ओलावृष्टि के आसार, 18 जिलों में अलर्ट, फसलों को नुकसान की आशंका

मौसम विज्ञान केंद्र द्वारा राहत आयुक्त को पत्र भेजकर सरगुजा, जशपुर, सूरजपुर, बलरामपुर, कोरिया, पेंड्रा, बिलासपुर, कोरबा, रायगढ़, जांजगीर-चांपा, मुंगेली, कबीरधाम, बेमेतरा, बलौदाबाजार, राजनांदगांव, दुर्ग, रायपुर और महासमुंद के साथ उससे लगे जिलों में सोमवार की सुबह साढ़े आठ बजे से बुधवार की सुबह साढ़े आठ बजे तक बारिश और ओलावृष्टि का यलो अलर्ट जारी किया है। पढ़िए पूरी ख़बर...

बिगड़ा मौसम, कई शहरों में बारिश-ओलावृष्टि के आसार, 18 जिलों में अलर्ट, फसलों को नुकसान की आशंका
X

रायपुर: पिछली बार फसलों को काफी नुकसान पहुंचाने के बाद वापस लौैटे पश्चिमी विक्षोभ द्वारा एक बार किसानों को हानि पहुंचाने की आशंका है। इसके असर से तीन-चार दिनों तक मौसम बदलने से बादल-बारिश के आसार हैं। इस दौरान रायपुर समेत कई इलाकों में बादल-बारिश के साथ ओले भी पड़ सकते हैं। मौसम विभाग द्वारा सोमवार से बुधवार तक 18 जिलों के लिए अलर्ट जारी कर दिया गया है। मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से उत्तर-पूर्व राजस्थान के ऊपर एक ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा बना हुआ है। वहीं से एक द्रोणिका पूर्वी राजस्थान, पश्चिमी मध्यप्रदेश होते हुए मराठवाड़ा तक विस्तारित है। इसका प्रभाव छत्तीसगढ़ में रविवार की शाम से दिखने लगा। शाम होने के बाद अधिकांश इलाकों में बादल छा गए और रायपुर, बिलासपुर, बैकुंठपुर, राजनांदगांव समेेत कई जिलों में हल्की से मध्यम वर्षा हुई तथा इसके आसार लगातार बने हुए हैं। सिस्टम का ज्यादा असर सोमवार को दिखाई देने के आसार हैं। बारिश तथा ओले पड़ने का दौर उत्तरी क्षेत्र यानी सरगुजा और बिलासपुर संभाग से शुरू होकर रायपुर, दुर्ग संभाग के उत्तरी इलाके को प्रभावित करेगा। इसके अगले दिन यानी मंगलवार और बुधवार को प्रदेश के दक्षिण यानी बस्तर की तरफ भी इसका प्रभाव रहने की संभावना है। मौसम विशेषज्ञ एचपी चंद्रा ने बताया कि सिस्टम की वजह से तीन-चार दिनों तक बादल छाए रहने के आसार हैं। इसके प्रभाव से दिन के तापमान में तो गिरावट होगी, मगर रात का न्यूनतम तापमान सामान्य से अधिक रहेगा। मौसम विभाग के मुताबिक दिसंबर माह के अंतिम दिनों में पश्चिमी विक्षोभ ने प्रदेश को प्रभावित किया था।

अभी तापमान ज्यादा

प्रदेश में आने वाली नमीयुक्त हवा की वजह से रात का तापमान अभी सामान्य से चार डिग्री सेल्सियस तक अधिक है। इसकी वजह से रायपुर में रात के वक्त भी ठंड का असर बेहद मामूली है। माना जा रहा है कि तीन-चार दिनों तक बादल-बारिश रहने के बाद आसमान साफ होते ही ठंड अपना असर दिखा सकती है। अभी प्रदेश के किसी भी शहर में रात का तापमान सामान्य स्थिति में नहीं है।

Next Story