Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

... इसलिए घर पर उत्तर लिखने के बाद भी कुछ छात्र हुए फेल

मूल्यांकन में जोड़े जा रहे पिछली कक्षाओं के भी अंक, अधिकतर विषयों में परिणाम 100 प्रतिशत, गिनती के ही छात्र अनुत्तीर्ण

... इसलिए घर पर उत्तर लिखने के बाद भी कुछ छात्र हुए फेल
X

रायपुर. पं.रविशंकर शुक्ल विवि द्वारा सेमेस्टर परीक्षाओं के परिणाम घोषित किए जाने का सिलसिला प्रारंभ हो गया है। अधिकतर विषयों के परीक्षा परिणाम 100 प्रतिशत रहे हैं, लेकिन कई ऐसे विषय भी हैं, जिसमें कुछ छात्र फेल हो गए हैं।

हालांकि फेल होने वाले विद्यार्थियों की संख्या बहुत कम है। घर से उत्तर लिखकर जमा करने के बाद भी छात्रों के फेल होने की मुख्य वजह पिछली कक्षा के परीक्षा परिणामों का भी औसत वर्तमान परीक्षाओं में जोड़ा जाना है। पिछली कक्षाओं में जो छात्र फेल, एटीकेटी अथवा अनुपस्थित रहे थे, उसका असर मौजूदा सत्र की परीक्षाओं के नतीजों पर भी दिख रहा है। इसके उलट जिन छात्रों के नतीजे पिछली परीक्षाओं में बेहतर रहे थे, उन्हें वर्तमान परीक्षाओं में लाभ मिल रहा है। अंतिम वर्ष तथा अंतिम सेमेस्टर को छोड़कर अन्य कक्षाओं के परिणाम आने शुरू हो गए हैं। अंतिम वर्ष-सेमेस्टर की परीक्षाएं पूर्ण होते ही इनके नतीजे भी घोषित कर दिए जाएंगे।

इसलिए लिया गया फैसला : चूंकि छात्रों द्वारा घर से ही उत्तर लिखकर केंद्रों में जमा किए जाने हैं, इसलिए उनके जवाब में त्रुटि होने की कोई संभावना नहीं है। मूल्यांकन केवल वर्तमान परीक्षाओं के आधार पर ही किए जाने की स्थिति में सभी छात्रों को लगभग शत-प्रतिशत अंक ही प्राप्त होते। ऐसे में परीक्षाओं की अथवा परिणामों की अधिक महत्ता नहीं रह जाती, इसलिए यह फॉर्मूला तैयार किया गया है। इसके आधार पर ही माहांत तक परिणाम तैयार किए जाने हैं।

ऐसे समझें अंकों का फॉर्मूला

अंतिम सेमेस्टर तथा अंतिम वर्ष के परिणाम तैयार करते वक्त वर्तमान परीक्षा में प्राप्त अंक तथा पिछली कक्षाओं में प्राप्त किए गए अंकों के औसत को जोड़ा जाएगा। पिछली कक्षाओं के नतीजों का 50 प्रतिशत तथा वर्तमान परीक्षा का 50 प्रतिशत वेटेज रहेगा। इसी तरह से अंतिम सेमेस्टर तथा अंतिम वर्ष को छोड़कर अन्य कक्षाओं के लिए भी फॉर्मूला तैयार किया गया है। चूंकि इन कक्षाओं की परीक्षाएं नहीं हुई हैं, इसलिए इस वर्ष छात्रों को दिए गए असाइनमेंट के मूल्यांकन पश्चात प्राप्त आंतरिक अंक तथा पिछली कक्षाओं के परिणामों के आधार पर मौजूदा सत्र के नतीजे तैयार किए गए हैं।

Next Story