Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सुशांत मामला: बिहार सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल कर रिया चक्रवर्ती की याचिका को बताया गलत

बिहार सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में हलफनामा दाखिल कर रिया चक्रवर्ती की स्थानांतरण याचिका को गलत ठहराया है। रिया ने मामले को मुंबई स्थानांतरित करने की मांग की थी। हलफनामे में बिहार सरकार ने यह भी कहा कि हमारे पास सुशांत मामले की जांच करने का अधिकार क्षेत्र है।

sushant case bihar government files rea chakraborty
X
प्रतीकात्मक तस्वीर

अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती ने बीते दिनों स्वयं के खिलाफ पटना में दर्ज मामले को सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर मुंबई स्थानांतरित करने का अनुरोध किया था। इसी मामले पर बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई थी। पिछली सुनवाई के दौरान अदालत ने मामले को स्थानांतरित किए जाने के अनुरोध पर सभी पक्षों से तीन दिनों के अन्दर जवाब मांगा था। इसी को लेकर बिहार सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में अपनी ओर से हलफनामा दायर किया है। सुप्रीम कोर्ट में दायर हलफनामे में बिहार सरकार ने रिया चक्रवर्ती की स्थानांतरण याचिका को गलत ठहराया है। साथ ही बिहार सरकार ने कहा कि यह याचिका बरकरार नहीं रखी जा सकती है। बिहार सरकार ने यह भी कहा कि हमारे पास सुशांत मामले की जांच करने का अधिकार क्षेत्र है। सुप्रीम कोर्ट में रिया की स्थानांतरण याचिका पर अगली सुनवाई बुधवार को फिर होगी। वहीं अदालत ने सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में जांच करने गये बिहार पुलिस के अधिकारी को कोरंटिन करने पर टिप्पणी की थी। साथ ही इसे गलत करार दिया था। सुशांत सिंह राजपूत की मौत होने के करीब एक माह बाद उनके पिता केके सिंह ने 25 जुलाई को रिया चक्रवर्ती व छह अन्य लोगों के खिलाफ पटना पुलिस को शिकायत दर्ज कराई थी। इसके बाद अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर पटना में दर्ज मामले को मुंबई स्थानांतरित करने की मांग की थी। जिससे कि वह बिहार पुलिस की संभावित कार्रवाई से बच सके।




ईडी ने सुशांत के पूर्व बिजनेस मैनेजर को बुलाया

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने सुशांत सिंह राजपूत के पूर्व बिजनेस मैनेजर श्रुति मोदी को शुक्रवार को उनके सामने पेश होने के लिए बुलाया है। आज एजेंसी श्रुति मोदी से पूछताछ कर सकती। इसके अलावा ईडी सुशांत के दोस्त सिद्धार्थ पिठानी को भी शनिवार, आठ अगस्त को एजेंसी के सामने पेश होने का नोटिस भेजा है।





Next Story