Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सत्तारूढ़ दल की तरफ से कंगना रनौत को दी जा रही धमकी निंदनीय : राजीव रंजन प्रसाद

बिहार की सत्ताधारी पार्टी जदयू के प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि मुंबई में सत्तारूढ़ दल की तरफ से कंगना रनौत को धमकी दी जा रही है। वो निंदनीय है। उन्होंने कहा कि कंगना ने सुशांत सिंह राजपूत मामले के जरिये से ड्रग्स माफिया आदि पर सवाल उठाया है।

rajiv ranjan prasad said that the threat being given to kangana ranaut from the ruling party is condemnable
X
राजीव रंजन प्रसाद ने कंगना रनौत को मिली धमकी पर जताई निंदा।

बिहार की सत्ताधारी पार्टी जदयू के प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने शनिवार को ट्वीट के माध्यम से महाराष्ट्र सरकार को घेरा है। उन्होंने कहा कि मुंबई में अभिनत्री कंगना रनौत को महाराष्ट्र के सत्तारूढ़ दल की ओर जो धमकी दी जा रही है, वो निंदनीय है। राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि अभिनेत्री कंगना रनौत ने सुशांत सिंह राजपूत प्रकरण के माध्यम से मजबूती के साथ फ़िल्म उद्योग, ड्रग्स माफिया इत्यादि पर सवाल उठाया है। वहीं उन्होंने किा कि जिसके बाद राष्ट्रीय महिला आयोग का इन धमकी मामले पर संज्ञान लेना कंगना रनौत की सुरक्षा के लिहाज से उठाया गया महत्वपूर्ण कदम है।



जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने मुंबई पुलिस की कार्यशैली पर उठाये सवाल

राजीव रंजन प्रसाद ने अन्य ट्वीट के जरिये आरोप लगाया कि शिवसेना नेता संजय राउत मुंबई पुलिस के जरिए महाराष्ट्र सरकार की गलतियों पर पर्दा डालने का प्रयास कर रहे हैं। जदयू प्रवक्ता ने कहा कि मुंबई पुलिस की कार्यकुशलता पर सवाल उठ रहे हैं। क्योंकि राज्य सरकार के दबाव में मुंबई पुलिस इस पूरे प्रकरण को भटका रही है। राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि मुंबई अपने कर्तव्यों का निर्वाहन करने में नाकाम हो रही है।



प्रश्नकाल को मॉनसून सत्र में नहीं रखने को निर्णय ठहराया सही

राजीव रंजन प्रसाद ने ट्वीट कर कहा कि कोरोना काल में प्रश्नकाल को मॉनसून सत्र में नहीं रखने का निर्णय पूरी तरह से स्थितियों के अनुरूप लिया गया है। इससे संसदीय प्रणाली का सम्मान होगा। वहीं उन्होंने कहा कि विपक्ष का काम तो बेबुनियाद सवालों को उठाना है। उन्होंने कहा कि अगर प्रशनकाल होता तो सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाने के आरोप लगते। जदयू प्रवक्ता ने कहा कि इस निर्णय की प्रमुख वजह यही है कि कोरोना काल में संसद में किसी तरह की कोई भीड़ न लगे व सभी की सुरक्षा सुनिश्चित हो सके।



Next Story