Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Prohibition: इस बार गंगा नदी के किनारे बालू से निकलने लगी शराब

Prohibition: शराबबंदी वाले बिहार में आए दिन शराब बरामद होती रहती है। इस बार पटना में पुलिस ने गंगा नदी के किनारे से बालू के अंदर से 20 लाख रुपये की शराब बरामद की है। इससे पहले बिहार के छपरा में एक खेत से कच्ची शराब आलू, गाजर और प्याज सब्जियों की तरह निकलने लगी थी।

Prohibition Police found liquor from Ganges river banks in Patna
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

Prohibition: होली (Holi) के मद्देनजर बिहार पुलिस (Bihar Police) ने सूबे में शराब तस्करों (Wine smugglers) के खिलाफ अपना शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। इस कार्रवाई के चलते पुलिस ने पटना (Patna) और सोनपुर (Sonpur) से करीब 20 लाख रुपये की शराब बरामद (Alcohol recovered) की है। यह शराब गंगा नदी किनारे (River Ganges) बालू के अंदर छिपाकर रखी गई थी। शराब तस्करों ने होली को लेकर पीरबहोर (Peerabhor) और सोनपुर क्षेत्र में गंगा नदी की बालू व खेत में शराब की एक बड़ी खेप बोरी के अंदर बंद करके दबाई हुई थी। वहीं पीरबहोर थाना पुलिस को गुप्त रूप से इस बात की जानकारी हाथ लग गई।

तुरंत पुलिस बल गंगा के किनारे पर एनआईटी घाट के पूर्व दिशा में जा पहुंची। जहां पुलिस ने खुदाई करवाई। उस जगह से बालू के अंदर दबाकर रखी गई विदेशी शराब की बोरी निकल कर सामने आ गई। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार पुलिस ने एनआईटी घाट से 25 कार्टन में भरी 520 बोतलें विदेशी शराब की बरामद की हैं। बताया जा रहा है कि शराब के ये सभी कार्टन प्लास्टिक के बोरे के अंदर छिपाकर रखे गए थे। टाउन डीएसपी सुरेश प्रसाद व पीरबहोर थाना अध्यक्ष को गुप्त सूचना मिली थी कि सोनपुर क्षेत्र में एनआईटी घाट के सामने बालू व गंगा किनारे स्थित खेतों में विदेशी शराब की एक बड़ी खेप छिपाकर रखी गई है।

इसके बाद पुलिस टीम नाव की मदद से गंगा नदी की दूसरी पार पहुंची। वहां पहुंचने के बाद सोनपुर पुलिस को इस बात की जानकारी दी गई और मौके पर बुला भी लिया गया। फिर इस जगह पर दोनों इलाकों की थाना पुलिस ने कई घंटों तक जांच-पड़ताल की। इस ऑपरेशन करने में मौके से 72 कार्टन शराब जब्त हुई। पुलिस की ओर से बरामद की गई शराब की कीमत करीब 20 लाख रुपये आकी गई है।

इसके अलावा उत्पाद विभाग (Excise department) ने रूकुनपुरा मुसहरी (Rukunpura Mushari) में छापेमारी कर 4100 लीटर देसी शराब (Country liquor) बर्बाद की गई है। विभाग ने इस जगह पर करीब दो दर्जन शराब भट्टियां भी ध्वस्त की हैं। इस कार्रवाई के चलते रूकुनपुरा मुसहरी में अवैध शराब का धंधा करने वालों के बीच हड़कंप मच गया है। बताया जा रहा है कि यहां की बनी देसी शराब पटना के कई क्षेत्रों में पहुंचती है। बिहार में शराबबंदी कानून लागू होने को 5 साल होने जा रहे हैं। लेकिन शराब माफिया अपनी करतूतों से बाज नहीं आ रहे हैं।

Next Story