Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दुल्हन लेने को ससुराल के लिए निकला दूल्हा पहुंच गया हवालात, खबर पढ़कर जानें पूरा मामला

बिहार पुलिस ने एक शख्स को उस वक्त गिरफ्तार कर लिया कि जब वो सेहरा पहने दूल्हा बनकर दुल्हन लेने के लिए जा रहा था। पुलिस के अनुसार वो काफी लंबे वक्त से एक आपराधिक मामले में फरार चल रहा था।

nalanda groom reached jail minutes before wedding bihar crime news in hindi
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार (Bihar) के नालंदा जिले (Nalanda district) से एक अजब-गजब मामला (Amazing case) सामने आया है। मामला ये है कि जब सेहरा बांधकर एक दूल्हा (Groom) अपने घर से दुल्हन (Bride) लेने के लिए निकला, उसी वक्त बिहार पुलिस (Bihar Police) ने दूल्हे को अपनी गिरफ्त (Groom arrested) में ले लिया। पुलिस के अनुसार वह शख्स एक हत्या (Murder) मामले में करीब दो वर्षों से फरार चल रहा था। जानकारी के अनुसार ये पूरा मामला नालंदा जिले के हरनौत थाना क्षेत्र से सामने आया है। जहां पुलिस ने एक हत्या मामले के आरोपी को शादी का मंडप चढ़ने से पहले ही दबोच लिया और सलाखों के पीछे पहुंचा दिया।

आपको बता दें बीते 10 जनवरी 2020 को जिले के हरनौत थाना क्षेत्र के बस्ती गांव में गौतम सिंह उर्फ फंटू सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस हत्या की वारदात में कई लोगों को नामजद आरोपित किया गया था। इन्हीं नामजद अभियुक्तों में अविनाश कुमार भी शामिल था।

जानकारी के अनुसार हत्या मामले का आरोपी अविनाश कुमार वारदात के के बाद से ही फरार चल रहा था। वहीं पुलिस गहनता से अविनाश कुमार की खोज कर रही थी। लेकिन अविनाश कुमार पुलिस की गिरफ्त से बाहर था। इस बीच पुलिस को भनक लगी कि अविनाश हरनौत के दैली गांव में आया हुआ है। जानकारी हाथ लगते ही पुलिस मौके पर पहुंची। उस वक्त अविनाश कुमार सेहरा बांधकर दूल्हा बनकर दुल्हन लाने के लिए गाड़ी में सवार ही हुआ था, तुरंत पुलिस ने उसको धर दबोच लिया और गिरफ्तार कर थाने ले आई।

जानकारी के अनुसार नालंदा जिले के दैली गांव से चलकर बारात जहानाबाद जिले जाने वाली थी। पर सेहरा पहना हुआ दूल्हा अविनाश शादी के मंडप पर पहुंचने से पहले ही सलाखों के पीछे पहुंच गया। पुलिस के अनुसार अविनाश कुमार ने ही गौतम सिंह के हत्याकांड में रेकी करने का काम किया गया था। वहीं हत्यारों को गौतम सिंह के बारे में पूरी जानकारी अविनाश द्वारा ही दी जा रही थी। गौतम की हत्या के बाद अविनाश दिल्ली फरार हो गया था। वो दिल्ली में ही छिपकर रह रहा था। इस बीच अविनाश का विवाह तय हो गया और वो अपनी शादी करने के लिए ही गांव लौटा आया था।

और पढ़ें
Next Story