Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Panchayat Elections: सबसे बुजुर्ग प्रत्याशी पानमती देवी ने वार्ड मेंबर के लिए भरा पर्चा, पति दो बार रहे हैं विधायक

बिहार के गोपालगंज जिले की रहने वाली 80 वर्षीय बुजुर्ग महिला पानमती देवी चर्चाओं में आ गई हैं। क्योंकि उन्होंने बिहार पंचायत चुनाव में इतनी ज्यादा उम्र होने के बाद भी वार्ड सदस्य पद के लिए पर्चा दाखिल किया है। भोरे विधानसभा क्षेत्र से पानमती देवी के स्वर्गीय पति बद्री राम दो बार विधायक रह चुके हैं।

bihar Panchayat Election gopalganj former mla badri rams wife 80 years panmati devi filed nomination for ward member
X

पानमती देवी

बिहार (Bihar) के गोपालगंज (Gopalgang) जिले से एक ऐसी खबर सामने आई है। जिसको सुनकर हर कोई हैरान हो रहा है। हों भी क्यों नहीं, क्योंकि 80 साल की बुजुर्ग महिला ने पंचायत चुनाव (Bihar Panchayat Elections) में नामांकन पत्र जा दाखिल किया है। इस महिला का नाम पानमती देवी (Panamati Devi) है व उन्होंने पंचायत चुनाव में अपना पर्चा दाखिल कर सबसे अधिक उम्र में चुनाव लड़ने का रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिया है। पानमती देवी ने विजयीपुर प्रखंड के पंगड़ा पंचायत के वार्ड-3 से वार्ड सदस्य के लिए नामांकन पत्र दाखिल किया है। पानमती देवी शुक्रवार को अपने दो बेटों के सहारे से पर्चा दाखिल करने के लिए नामांकन केंद्र पहुंची थी और उन्हें देखकर वहां पर मौजूद हर शख्स दंग रह गया था।

पानमती देवी को ऐसे मिला यह जज्बा

पानमती देवी 80 वर्ष की उम्र में गांव की बेहतर सरकार बनाने में अपनी हिस्सेदारी निभा रही हैं। पानमती देवी को यह सियासी जज्बा उनके पति से प्राप्त है। जोकि इनके पति स्व. बद्रीराम दो बार विधायक रहे हैं। आपको बता दें गोपालगंज जिले की भोरे विधानसभा सीट से 1962 व 1967 में बद्रीराम प्रजा सोशलिस्ट पार्टी के टिकट पर एमएलए चुने गए थे। एक वक्त था जब पानमती देवी के विधायक पति बद्रीराम की इलाके में तूती बोलती थी।

पानमती देवी ने कही ये बात

पानमती देवी विजयीपुर के सहडियरी गांव की रहने वाली हैं। शुक्रवार को पानमती देवी ने विजयीपुर प्रखंड कार्यालय में पहुंचकर पंगरा पंचायत के वार्ड 3 से वार्ड सदस्य के लिए नामांकन पत्र दाखिल किया। इसके बाद पानमती देवी ने बताया कि उनके पति ने गरीबों की मदद करते-करते अपना जीवन व्यतीत कर लिया। वहीं अब उनकी बारी आई है। उम्र ज्यादा होने की वजह से वह बुजुर्ग और कमजोर हो चुकी हैं। बावजूद इसके वह वार्ड की जनता की सेवा करना चाहती हैं। पानमती देवी द्वारा नामांकन पत्र दाखिल करना गोपालगंज समेत पूरे बिहार में चर्चा का विषय बन गया है।

Next Story