Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Bihar Assembly Elections 2020: नामांकन करने से पहले बोले तेजस्वी यादव, सौगंध ली, बिहार के हित में सदा करूंगा कार्य

Bihar Assembly Elections 2020: राजद नेता तेजस्वी यादव थोड़ी देर में राघोपुर विधानसभा क्षेत्र से अपना नामांकल पत्र दाखिल करेंगे। जिसके लिये तेजस्वी यादव अपनी मां राबड़ी देवी, भाई तेज प्रताप यादव के पैर छूकर अपने आवास से नामांकन पत्र दाखिल करने के लिये निकल गये है। इस दौरान तेजस्वी यादव ने कहा कि मैंने सौगंध ली है कि बिहार के हित में सदा कार्य करता रहूंगा।

bihar assembly elections 2020 tejashwi yadav said that he will always work in the interest of bihar
X

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: मां राबड़ी देवी, भाई तेज प्रताप यादव के पैर छूकर तेजस्वी यादव ने लिया आशीर्वाद।

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: राजद नेता तेजस्वी यादव राघोपुर विधानसभा सीट से चुनाव लड़ने जा रहे हैं। जिसके लिये वे आज थोड़ी देर में नामांकन पत्र दाखिल करेंगे। जानकारी है कि तेजस्वी यादव अपने विधानसभा क्षेत्र राघोपुर से अपना नामांकन पत्र दाखिल करने के लिये हाजीपुर के लिये निकल गये हैं। इससे पहले उन्होंने अपने आवास पर अपनी मां राबड़ी देवी और बड़े भाई तेज प्रताप यादव के पैर छूकर अपनी जीत का आशीर्वाद प्राप्त किया। वहीं उन्होंने ऐलान किया कि उन्होंने सौगंध ली है कि बिहार के हित में सदा कार्य करता रहूंगा। हर बिहारवासी को जब तक उनका हर अधिकार नहीं दिला देता, चैन से बैठने वाला नहीं हूं। इस सौगंध को पूरा करने के क्रम में आज नामांकन करने जा रहा हूं। परिवर्तन के इस शंखनाद में आपके स्नेह, समर्थन व आशीर्वाद का आकांक्षी हूं।



रोजगार को लेकर बिहार के युवाओं को दिया भरोसा

तेजस्वी यादव ने मीडिया कर्मियों से बात करते हुये एक बार फिर रोजगार को लेकर अपनी पूर्व बातों को दोहराया है। तेजस्वी यादव ने कहा कि यदि बिहार में हमारी सरकार बनाती है तो वे पहली कैबिनेट मीटिंग में हम जो पहली चीज करेंगे, वह है। बिहार के 10 लाख युवाओं को नौकरी देना। ये सरकारी नौकरी व प्रकृति में स्थायी होंगे। राजद नेता तेजस्वी यादव ने राघोपुर से नामांकन दाखिल करने से पहले मीडिया कर्मियों से बातचीत करने के दौरान यह बात कही।

तेजस्वी यादव ने इससे पहले ट्वीट कर बिहार के पर्यटन में पिछड़े होने पर एनडीए सरकार पर निधाना साधा। तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहार का इतिहास, परंपरा व सभ्यता सबसे समृद्ध है। बिहार भारतीय संस्कृति का केंद्र माना जाता है। बिहार की पावन धरती सम्राट अशोक, चन्द्रगुप्त मौर्य, चाणक्य, आर्यभट्ट, बुद्ध, महावीर, माता सीता व गुरु गोविन्द सिंह की जन्मस्थली व कर्मस्थली रही है। इसके बाद भी बिहार पर्यटन क्षेत्र में पिछड़ रहा है। आख़िर ऐसा क्यों है?

Next Story