Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: तेजस्वी यादव का वार- नीतीश के राज में हुये 60 घोटाले, कैसे पता चले बजट?

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: महागठबंधन नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि नीतीश कुमार सरकार के कार्यकाल में 60 घोटाले हुये हैं। इन्होंने बिहार के 30 हज़ार करोड़ रुपये भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा दिये हैं। इसके बाद नीतीश व सुशील मोदी को बजट का कैसे पता चलेगा?

bihar assembly elections 2020 tejashwi yadav charge 60 scams during nitish kumar tenure
X

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: महागठबंधन नेता तेजस्वी यादव ने ट्वीट के जरिये नीतीश कुमार और सुशील मोदी को घेरा।

बिहार विधानसभा चुनाव 2020: बिहार में विधानसभा के चुनावों को लेकर रानीतिक पार्टियों में जबरदस्त सियासी घमासान देखने को मिल रहा है। इसी कड़ी में राजद नेता एवं महागठबंधन से सीएम उम्मीदवार तेजस्वी यादव ने गुरुवार को एक के बाद एक ट्वीट कर बिहार की एनडीए सरकार पर निशाने साधे हैं। तेजस्वी यादव ने कहा कि नीतीश कुमार और सुशील मोदी को बजट का कैसे पता चलेगा? उन्होंने आरोप लगाते हुये कहा कि नीतीश कुमार व सुशील मोदी के कार्यकाल में सृजन, धान, तटबंध घोटाले सहित 30000 करोड़ रुपये के कुल 60 घोटाले हुए हैं। उन्होंने नीतीश कुमार व सुशील मोदी पर बिहार के 30 हजार करोड़ रुपये भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा देने का आरोप लगाया है। तेजस्वी यादव ने कहा कि इन सभी घोटालों को स्वयं पीएम नरेंद्र मोदी पिछले चुनाव में स्वीकार कर चुके हैं।

वहीं तेजस्वी यादव ने दावा किया कि बिहार में हमारी सरकार बिना भ्रष्टाचार पूरी पारदर्शिता से एक-एक पैसा सही कार्य में लगाएगी। राज्य की उत्पादकता को बढ़ाया जायेगा। साथ ही तेजस्वी यादव ने वायदा किया कि हमारी सरकार पूंजीपतियों को निवेश के लिए आकर्षित कर नए उद्योग लगाएगी व राज्य की आय कई गुणा बढ़ाएगी।

तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर हमला जारी रखते हुये कहा कि वो आजकल कुछ भी बोल रहे हैं। तेजस्वी ने कहा कि शायद नीतीश कुमार भूल गए है कि बिहार का वित्तीय बजट 2,11,761 करोड़ है। वहीं तेजस्वी यादव ने आरोप लगाया कि नीतीश कुमार सरकार बजट का 40 प्रतिशत हिस्सा अपनी ढुलमुल, गैर-ज़िम्मेदारना, भ्रष्ट व लचर नीतियों के कारण खर्च ही नहीं कर पाती है। तेजस्वी यादव ने कहा कि समय पूरा होने पर इन नाकामियों की वजह से 80 हजार करोड़ रुपये हर वर्ष सरेंडर होता है।

तेजस्वी यादव ने कहा कि कोई कार्यकुशल सरकार लगभग 40 फ़ीसदी बजट राशि हर वर्ष सरेंडर क्यों करेगी? वहीं तेजस्वी यादव ने भरोसा दिया कि हम नीतीश कुमार व सुशील मोदी की तरह इस विशालकाय राशि का प्रयोग जातीय वोट बैंक को लुभावने में नहीं करेंगे। बल्कि उन्होंने कहा कि इस राशि का उनकी सरकार नए विकास कार्यों व लाखों नई नौकरियों के वेतन के रूप में कर सकती है। इसके अलावा तेजस्वी यादव ने केंद्र सरकार से बिहार को विशेष राज्य का दर्जा नहीं मिलने पर तंज कसा है। उन्होंने कहा कि एनडीए के वादानुसार देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण क्या बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने के संदर्भ में कुछ घोषणा करेंगी?

तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार व सुशील मोदी की सरकार पर लगाये आरोप

1. इनकी सरकार ने 30000 करोड़ रुपये 60 घोटाले में बर्बाद किया।

2. नीतीश की सरकार ने 500 करोड़ रुपये चेहरा चमकाने हेतु विज्ञापन पर खर्च किये।

3. एनडीए सरकार ने 24500 करोड़ रुपये जल जीवन हरियाली के नाम पर कार्यकर्ताओं को बांट दिये।

4. ये 10000 करोड़ रुपये की समानांतर अवैध इकॉनमी शराबबंदी के नाम पर चला रहे हैं।


5. इस सरकार ने मानव श्रृंखला पर हज़ारों करोड़ रुपये लुटा दिये हैं।

Next Story