Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मुख्तार अंसारी को यूपी एटीएस ने दिया एक और झटका, एंबुलेंस ड्राइवर सलीम को दबोचा

फर्जी एंबुलेंस रजिस्ट्रेशन मामले में जेल में बंद है मुख्तार अंसारी। मामले अन्य 10 आरोपियों की गिरफ्तारी में जुटी पुलिस और एजेंसियां।

मुख्तार अंसारी को यूपी एटीएस ने दिया एक और झटका, एंबुलेंस ड्राइवर सलीम को दबोचा
X

यूपी के बाहुबली बसपा विधायक मुख्तार अंसारी को (UP ATS) यूपी एटीएस ने एक और बड़ा झटका दिया है। इसकी वजह टीम द्वारा (Mukhtar Ansari) मुख्तार का सबसे करीबी एंबुलेंस ड्राइवर सलीम को गिरफ्तारी होना है। यूपी एटीएस ने पिछले काफी समय से फरार चल रहे आरोपी को लखनऊ से दबोचा है। पुलिस के साथ एटीएस आरोपी सलीम की फर्जी एंबुलेंस रजिस्ट्रेशन मामले में तलाश में जुटी थी।

25 हजार का इनामी है आरोपी सलीम

उत्तर प्रदेश पुलिस के अनुसार, आरोप सलीम एंबुलेंस फर्जी रजिस्ट्रेशन मामले में फरार चल रह था। उसकी गिरफ्तारी के लिए दबिश देने के साथ ही पुलिस अधिकारियों ने 25 हजार रुपये का इनाम भी घोषित किया था। मंगलवार को यूपी एटीएस की टीम को जानकारी मिली की आरोपी सलीम लखनऊ के जानकीपुरम एरिया में छीपा हुआ है। इसका पता लगते ही पुलिस ने आरोपी को दबोच लिया। पुलिस और एटीएस की टीम एंबुलेंस के फर्जी रजिस्ट्रेशन मामले में अब तक 10 आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर चुकी है। वहीं अब तक 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। इतना ही नहीं इस मामले में ज्यादातर आरोपी मुख्तार अंसारी के करीबी बताये जा रहे हैं। इनमें आनंद, राजनाथ, डॉ अलका राय और शेष नाथ राय के नाम भी शामिल हैं।

मुख्तार अंसारी ने मालिश कराने और टीवी की रखी मांग

वहीं पेशी पर पहुंचे मुख्तार अंसारी ने सीजेएम राकेश कुमार के सामने अपनी दो मांगे। इनमें एक मालिश कराने यानि फिजियोथेरेपी कराने और दूसरा जेल के बैरक में टीवी की व्यवस्था कराने की है। फिजियोथेरेपी के लिए मुख्तार अंसारी ने डॉक्टरों की रिपोर्ट का भी हवाला दिया है। वहीं सीजेएम ने अगली सुनवाई की तारीख 5 जुलाई की सुनिश्चित की है।

Next Story