Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

श्मशान में मचा हाहाकार- कोरोना संक्रमण से मृत्यु के शिकार अपने पिता की जलती चिता में कूद गई बेटी

4 साल की युवती कोरोना वायरस संक्रमण से मृत्यु के शिकार अपने पिता की जलती चिता में कूद गई। पुलिस ने युवती को सरकारी अस्पताल पहुचाया जहां गंभीर हालत के कारण उसे जोधपुर भेज दिया गया।

श्मशान में मचा हाहाकार- कोरोना संक्रमण से मृत्यु के शिकार अपने पिता की जलती चिता में कूद गई बेटी
X
पिता की जलती चिता में कूदी बेटी

बाड़मेर। राजस्थान के बाड़मेर जिले में एक दिलदहला देने वाला सामने आया है। यहां एक 34 साल की युवती कोरोना वायरस संक्रमण से मृत्यु के शिकार अपने पिता की जलती चिता में कूद गई। पुलिस के अनुसार यह घटना मंगलवार शाम की है। पुलिस ने युवती को सरकारी अस्पताल पहुचाया जहां गंभीर हालत के कारण उसे जोधपुर भेज दिया गया। मिली सूचना के अनुसार कोविड-19 से संक्रमित दामोदरदास (73) की मंगलवार सुबह मौत हो गयी।

परिवार में नहीं बचा कोई पुरुष

बाड़ेमर शहर पुलिस थाने के प्रभारी प्रेम प्रकाश ने बताया कि दामोदरदास के तीन बेटियां हैं। सबसे छोटी बेटी चंद्रकला (34) ने अंत्येष्टि स्थल पर जाने की जिद की क्योंकि परिवार में कोई पुरुष सदस्य नहीं है। वहां पर वह अपने पिता की जलती चिता में कूद गई। मौजूद लोगों ने किसी तरह से उसे वहां से निकाला और पुलिस व एंबुलेंस को बुलाया। उसे बाड़मेर के सरकारी अस्पताल में भेजा गया। पुलिस का कहना है कि प्राथमिक उपचार के बाद चंद्रकला को जोधपुर भेज दिया गया।

अन्तिम लकड़ी देने पहुंची और चिता में कूद गई

कपालक्रिया के बाद सभी परिजन जाने लगे तो सबसे छोटी बेटी 30 वर्षीय चन्द्रकला अन्तिम लकड़ी देने पहुंची और जलती चिता में कूद गई। अचानक हुई इस घटना से परिजन के होश उड़ गए। श्मशान में हा-हाकार मच गया। नगर परिषद के कार्मिक और परिजन दौड़े, चन्द्रकला को जैसे-तैसे निकालकर अस्पताल ले गए। चिकत्सकों ने बताया कि वह 70 प्रतिशत झुलस गई है, हालत गम्भीर है। सूचना मिलने पर कोतवाली थाना पुलिस भी मौके पर पहुंची।

Next Story