Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना महामारी अध्यादेश : राजस्थान में जमकर उड़ रही कोरोना प्रोटोकोल की धज्जियां, अब तक लाखों लोगों के कट चुके हैं चालान

राजस्थान में महामारी अध्यादेश के तहत अब तक 10 लाख से अधिक लोगों के चालान किया जा चुके हैं। वहीं राज्य के पुलिस महानिदेशक एम एल लाठर ने कहा है कि कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए स्वास्थ्य संबंधी सभी दिशानिर्देशों का पालन जरूरी है।

कोरोना महामारी अध्यादेश : राजस्थान में जमकर उड़ रही कोरोना प्रोटोकोल की धज्जियां, अब तक लाखों लोगों के कट चुके हैं चालान
X

कोरोना महामारी अध्यादेश

जयपुर। राजस्थान में कोरोना वायरस का प्रकोप अभी नहीं थमा है। प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। वहीं इस घातक बीमारी ने सबसे ज्यादा प्रदेश सरकार की चिंता बढ़ा दी है। वहीं सरकार के सामने एक और बड़ी चिंता इस बात की है कि लोग कोरोना महामारी अध्यादेश की जमकर अवहेलना कर रहे हैं। राजस्थान में महामारी अध्यादेश के तहत अब तक 10 लाख से अधिक लोगों के चालान किया जा चुके हैं। वहीं राज्य के पुलिस महानिदेशक एम एल लाठर ने कहा है कि कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए स्वास्थ्य संबंधी सभी दिशानिर्देशों का पालन जरूरी है।

इन उल्लंघनों पर काटे गए चालान

लाठर ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए लागू राजस्थान महामारी अध्यादेश के तहत अब तक करीब 10.05 लाख व्यक्तियों के चालान किए गए हैं। सार्वजनिक स्थलों पर मास्क नहीं लगाने पर 3.50 लाख, बिना मास्क पहने लोगों को सामान बेचने पर 14,135 तथा निर्धारित सामाजिक दूरी का पालन नहीं करने पर छह लाख से अधिक लोगों के चालान किये गये हैं। उन्होंने बताया कि निषेधाज्ञा तथा पृथकवास मापदण्डों का उल्लघंन करने पर 3,780 प्राथमिकी दर्ज कर अब तक 9,808 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है। इसी तरह सार्वजनिक स्थलों पर थूकने व गुटखा-तम्बाकू का सेवन करने तथा शराब पीने वाले व्यक्तियों के खिलाफ भी कार्रवाई की जा रही है। संक्रमण को रोकने के लिए मास्क लगाना, निर्धारित सामाजिक दूरी का पालन व बार बार हाथ धोने जैसी अन्य सतर्कताएं जरूरी हैं।

Next Story