Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोटा में महापौर चुनाव के दौरान भिड़े भाजपा व कांग्रेस के कार्यकर्ता, पुलिस ने किया लाठीचार्ज, कई घायल

कोटा में महापौर के चुनाव के दौराना भाजपा व कांग्रेस के कार्यकर्ता ही आपस में भिड़ गए। दरअसल दक्षिण नगर निगम के महापौर चुनाव में पार्षदों के मतदान के दौरान निर्दलीय पार्षद को बस से उतारने को लेकर कांग्रेस व भाजपा के कार्यकर्ताओं में आपस में झड़प हो गई।

कोटा में महापौर चुनाव के दौराना भिड़े भाजपा व कांग्रेस के कार्यकर्ता, पुलिस ने किया लाठीचार्ज, कई घायल
X

काेटा में भिड़े भाजपा व कांग्रेसी कार्यकर्ता

राजस्थान में आज महापौर चुनाव हो रहा है। राज्य को आज छह नए मेयर मिल जाएंगे। इन चुनावों में कई बड़े नेताओं की प्रतिष्ठा दाव पर है। वहीं मतदान के दौरान कोटा से एक बड़ी खबर सामने आ रही है। यहां भाजपा व कांग्रेस के कार्यकर्ता ही आपस में भिड़ गए। दरअसल दक्षिण नगर निगम के महापौर चुनाव में पार्षदों के मतदान के दौरान निर्दलीय पार्षद को बस से उतारने को लेकर कांग्रेस व भाजपा के कार्यकर्ताओं में आपस में झड़प हो गई।

पुलिस ने स्थिति को नियंत्रण में करने के दोनों पक्षों को खदेड़ते हुए लाठीचार्ज किया। लाठीचार्ज में दोनों पक्षों के एक दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए। जानकारी के अनुसार कोटा दक्षिण में निर्दलीय पार्षद लेखराज को लेकर भाजपा व कांग्रेस के बीच घमासान मचा था। लेखराज के पिता ने अपने पुत्र के अपहरण को लेकर पुलिस में शिकायत दी थी। कांग्रेस ने इसको मुद्दा बनाते हुए भाजपा को घेरा था।

क्यों बड़ा मामला?

वैसे तो राज्य में चुनाव के दिन दोनों ही पक्ष आपस में भिड़ते ही रहते हैं। मगर मंगलवार को बाड़ेबंदी के पार्षदों जब मतदान के लिए लाया गया, तब भाजपा खेमे में शामिल निर्दलीय पार्षद लेखराज को बस से नीचे उतारने के लिए कांग्रेसी व भाजपा के कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए। कांग्रेसियों का आरोप था कि भाजपा ने दबावपूर्वक निर्दलीय को अपने कब्जे में ले रखा है, इसको बस से नीचे उतारा जाएं।

दूसरी तरफ भाजपा कार्यकर्ता भी कांग्रेसियों से भिड़ गए और निर्दलीय को सीधे मतदान के लिए ले जाने के लिए दबाव बनाया। कार्यकर्ताओं के आपस में भिडऩे पर स्थिति को नियंत्रण में लेने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया। कार्यकर्ता इतने उग्र थे कि पुलिस को दो बार लाठीचार्ज करना पड़ा। महापौर चुनाव के दौरान सैकड़ों लोग नगर निगम भवन से लेकर सीएडी सर्किल तक जुटे रहे। पुलिस ने उनको खदेडऩे में खासी मशक्कत करनी पड़ी। घायल कार्यकर्ताओं को उपचार के लिए अस्पताल भेजा गया।

Next Story