Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नए कृषि विधेयकों के मुद्दे पर अमरिंदर सिंह की दो टूक, बोले- 'मैं इस्तीफा देने से नहीं डरता'

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने मंगलवार को जोर देकर कहा कि पंजाब के किसानों के प्रति किये जा रहे ‘अन्याय' के आगे झुकने के बजाए वह इस्तीफा देने को तैयार हैं। साथ ही उन्होंने आगाह किया कि केंद्र द्वारा लागू किए गए नए कृषि कानूनों के कारण राज्य की शांति बाधित हो सकती है और राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा हो सकता है।

नए कृषि विधेयकों के मुद्दे पर अमरिंदर सिंह की दो टूक, बोले-
X

अमरिंदर सिंह

पंजाब में केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृष विधेयकों का मामला बढ़ता ही जा रहा है। वहीं इस मामले में राजनीति भी जोरों पर चल रही है। प्रदेश सरकार केंद्र सरकार को घेरने के लिए कसर नहीं छोड़ रही है। वहीं इस मामले में पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने मंगलवार को जोर देकर कहा कि पंजाब के किसानों के प्रति किये जा रहे 'अन्याय' के आगे झुकने के बजाए वह इस्तीफा देने को तैयार हैं।

साथ ही उन्होंने आगाह किया कि केंद्र द्वारा लागू किए गए नए कृषि कानूनों के कारण राज्य की शांति बाधित हो सकती है और राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा हो सकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह हालात से परेशान और निराश हैं। वह कोविड-19 संकट के दौरान लिए गए केंद्र के फैसले को समझना चाहते हैं जो किसानों की परेशानी का सबब बना हुआ है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ऑपरेशन ब्लू स्टार के दौरान सिख लोकाचार पर हुए हमलों का समर्थन करने या उन्हें स्वीकार करने के बजाए उन्होंने पद छोड़ने का फैसला लिया था। उन्होंने कहा कि मैं इस्तीफा देने से नहीं डरता। सरकार के बर्खास्त होने से भी नहीं घबराता।

लेकिन मैं किसानों को बरबाद होता या परेशान होता नहीं देख सकता। मुख्यमंत्री ने विधानसभा के विशेष सत्र के दूसरे दिन केंद्र सरकार के कृषि कानूनों को अस्वीकार करने के लिए उनकी सरकार द्वारा सदन में लाए गए चार विधेयकों को पेश करते समय यह कहा। सिंह ने केंद्र को चेतावनी देते हुए कहा कि परिस्थितियां हाथ से निकल सकती हैं। उन्होंने कहा कि कृषि कानून वापस नहीं लिए गए तो नाराज युवा किसानों के पक्ष में सड़कों पर उतर आएंगे।

Next Story