Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जनता के सहयोग के बिना कोरोना को हराना मुश्किल, CM शिवराज ने की ये अपील

जनता के सहयोग के बिना कोरोना को हराना मुश्किल, CM शिवराज ने की ये अपील
X

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि बगैर जनता के सक्रिय सहयोग के कोरोना को पूर्ण रूप से परास्त करना मुश्किल है। लॉकडाउन करना कोरोना का स्थाई समाधान नहीं है। कोरोना को पूर्ण रूप से समाप्त करने के लिए यह आवश्यक है कि हर व्यक्ति यह संकल्प ले कि वह अनिवार्य रूप से मास्क का उपयोग करेगा तथा फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करे। अर्थात एक दूसरे से पर्याप्त दूरी बनाए रखे। इसी के माध्यम से संक्रमण की चेन टूटेगी।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि कोरोना को पूर्ण रूप से समाप्त करने के लिए किल कोरोना अभियान-2 के रूप में जन जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है, जो 1 अगस्त से शुरू होकर 14 अगस्त तक चलेगा। इस अभियान के दौरान हमें एक दूसरे के पूरे सहयोग से दृढ़ संकल्पित होकर संक्रमण की चैन को पूरी तरह तोड़ देना है। उन्होंने आमजन सहित सभी से अपील की है कि वे प्रदेश को कोराना संक्रमण से मुक्त करने में इस अभियान में अपना पूरा-पूरा सहयोग प्रदान करें।

किल कोरोना अभियान के मुख्य बिन्दु:-

• किल कोरोना अभियान-2 के दौरान निगरानी एवं समन्वय के लिए गृह विभाग को राज्य-स्तर पर नोडल विभाग बनाया गया। इस अभियान में संचालित गतिविधियों में गृह विभाग के साथ-साथ नगरीय विकास, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा चिकित्सा शिक्षा विभाग को शामिल किया गया है।

• थीम संकल्प की चेन जोड़ो-संक्रमण की चेन तोड़ो है। इसके साथ ही एक मास्क-अनेक जिंदगी और रोको-टोको की कार्रवाई सतत रूप से जारी रखी जाएगी।

• 3 अगस्त के बाद आर्थिक गतिविधियों के संचालन की आवश्यकता को दृष्टिगत रखते हुए जिला स्तर से किसी भी तरह के लॉकडाउन का आदेश बिना गृह विभाग की पूर्व अनुमति के जारी नहीं किया जाएगा।

• किल कोरोना अभियान-2 के तहत जन-प्रतिनिधियों के सार्वजनिक दौरा कार्यक्रम आयोजित नहीं किए जाएंगे तथा क्षेत्र में जाकर विकास कार्यों के शिलान्यास, भूमि-पूजन एवं लोकार्पण आदि आयोजन प्रतिबंधित रहेंगे। शिलान्यास, भूमि-पूजन, लोकार्पण आदि कार्यक्रम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सोशल डिस्टेंसिंग के मापदण्डों का पालन करते हुए आयोजित किए जा सकते हैं।

• जन-प्रतिनिधि अपने कार्यालय अथवा निवास स्थान पर आम जनता से मिलकर उनकी समस्याएं, शिकायतें सुन सकते हैं, किन्तु इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए कि एक समय में 5 से अधिक लोग एकत्र न हों।

• मास्क एवं फिजिकल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन किया जाना सभी के लिए अनिवार्य होगा। जो इन नियमों का पालन नहीं करेगा, उनके विरुद्ध जुर्माने तथा अन्य विधिक कार्रवाई की जाएगी। बगैर मास्क लगाए घर के बाहर निकलने पर नियमानुसार चालान तो होगा ही, लेकिन इसके साथ ही 2 मास्क भी नि:शुल्क दिए जाएंगे।

Next Story
Top