Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

प्रदेश सरकार ने टैक्स में कटौती की तो 80 रुपये प्रति लीटर पर पहुंचा डीजल, जानें पेट्रोल का रेट

हिमाचल प्रदेश में केंद्र सरकार के बाद राज्य सरकार ने भी टैक्स में कटौती कर दी है। जिससे पेट्रोल और डीजल की कीमत में 12 और 17 रुपये की कमी आ गई है। वहीं अब जयराम ठाकुर सरकार महंगाई पर नियंत्रण करने के प्रयास में जुटी हुई नजर आ रही है।

प्रदेश सरकार ने टैक्स में कटौती की तो 80 रुपये प्रति लीटर पर पहुंचा डीजल, जानें पेट्रोल का रेट
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

केंद्र सरकार (central government) की तरफ से पेट्रोल-डीजल (petrol-diesel) पर एक्साइज ड्यूटी में कटौती की गई है। वहीं अब हिमाचल सरकार (Himachal Pradesh) की तरफ से वैट में कटौती कर दी गई है। सीएम जयराम ठाकुर ने दीपावली की संध्या पर इस फैसले की जानकारी दी थी। हिमाचल सरकार की तरफ से नोटिफिकेशन भी जारी किया गया था। वैट और एक्साइज ड्यूटी कम होने से हिमाचल प्रदेश में शुक्रवार से पेट्रोल (Petrol) 12 रुपये और डीजल 17 रुपये प्रति लीटर सस्ता हो गया है।

प्रदेश सरकार की ओर से वैट घटाने से हिमाचल प्रदेश में डीजल 5.86 व पेट्रोल 5.89 रुपये सस्ता हुआ है। जिसके मुताबिक शुक्रवार से शिमला में पेट्रोल 95.76 और डीजल 80.34 रुपये प्रति लीटर उपभोक्ताओं को मिल रहा है। हिमाचल प्रदेश में बुधवार को पेट्रोल 107 रुपये और डीजल 92 रुपये प्रति लीटर के करीब था।

सरकार ने लगातार बढ़ रही कीमतों के चलते लोगों की राहत दी। पर उम्मीद है कि हिमाचल में मंडी लोकसभा सीट व 3 विधानसभा सीट के लिए हुए उपचुनाव में भाजपा क्लीनस्वीप कर गई। इससे सरकार ने तेल की कीमतों में कटौती कर दी है। सूबे में अब पेट्रोल की कीमत 100 रुपये से नीचे पहुंच गई है।

एक महीने में बढ़े थे 7 रुपये

हिमाचल प्रदेश में शिमला जिले में अक्तूबर माह में पेट्रोल की कीमत 7 रुपये बढ़ी थी। बीते नौ महीनों में सूबे में तेल के दाम रिकॉर्ड 28 रुपये की बढ़ोतरी हुई थी। पर और डीजल की कीमत में करीब 17 रुपये और पेट्रोल की कीमत में 12 रुपये की कटौती की गई है। इसके बाद शिमला समेत प्रदेश के अन्य जिलों में पेट्रोल और डीजल की कीमत अलग-अलग बनी हुई हैं। वर्तमान में हिमाचल के लाहौल स्पीति जिले में सबसे महंगा पेट्रोल मिल रहा है।

कांग्रेस ने कसा तंज

कांग्रेस ने डीजल और पेट्रोल की कीमतों पर चुटकी लेते हुए कहा कि हाल में उपचुनाव में मूंह की खाने के दूसरे दिन ही पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कटौती कर दी। इसका प्रभाव हिमाचल से दिल्ली तक नजर आया है। वहीं 2022 में होने वाले चुनाव को देखते हुए पेट्रोल और डीजल की कीमतों और कम होने वाली हैं। वहीं 2024 में भी इसका असर नजर आएगा। कांग्रेस प्रवक्ता आई एन मेहता ने तंज कसते हुए कहा कि केंद्र और राज्य सरकार गूंगी और बहरी हो गई थीं। जिसका खामियाजा देश के कई राज्यों में हुए उपचुनाव में नजर आया।

और पढ़ें
Next Story