Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

यमुनानगर में नगर निगम प्रशासन सख्त, किराया नहीं देने पर 57 दुकानें की गईं सील

दुकानों को सील करने के बाद निगम कर्मियों पर की उनपर नोटिस चस्पाया किया। नोटिस में दुकानदारों को चेतावनी दी गई कि बिना अनुमति से दुकानों की सील खोलने पर कार्रवाई की जाएगी।

यमुनानगर में नगर निगम प्रशासन सख्त, किराया नहीं देने पर 57 दुकानें की गईं सील
X

यमुनानगर में बकाया किराया नहीं देने पर दुकान को सील करते निगम के कर्मचारी।

हरिभूमि न्यूज : यमुनानगर

नगर निगम प्रशासन द्वारा ट्विन सिटी में बकाया किराया नहीं देने वाले दुकानदारों पर शिकंजा कसने के लिए चलाए जा रहे अभियान के तहत बुधवार को पांच दुकानों को सील किया गया। इन दुकानों पर पांच लाख 96 हजार रुपये का किराया बकाया है। नगर निगम द्वारा अब तक अभियान के तहत बकाया किराया नहीं देने पर 57 दुकानें सील की जा चुकी हैं।

नगर निगम प्रशासन की टीम क्षेत्रीय कराधान अधिकारी अजय वालिया के नेतृत्व में सबसे पहले जगाधरी वर्कशॉप रोड पर पहुंची। टीम ने यहां दुकान नंबर 98 को सील किया। इस पर 80 हजार 902 रुपये किराया बकाया है। इस दुकान को सील करने के बाद निगम की टीम बस स्टैंड पहुंची। यहां पर दुकान नंबर दो व तीन को सील किया गया। दुकान नंबर दो पर एक लाख 97 हजार 314 रुपये व तीन पर दो लाख 15 हजार 983 रुपये बकाया है। इसके बाद निगम की टीम ने शिवाजी मार्केट में प्रथम तल पर दुकान नंबर छह को सील किया। इस दुकान पर 56701 रुपये का किराया बकाया है। इसी तरह निगम की टीम ने इंदिरा मार्केट में दुकान नंबर 47 को सील किया। इस पर 45218 रुपये किराया बकाया है। दुकानों को सील करने के बाद निगम कर्मियों पर की उनपर नोटिस चस्पाया किया। नोटिस में दुकानदारों को चेतावनी दी गई कि बिना अनुमति से दुकानों की सील खोलने पर कार्रवाई की जाएगी।

बकायादारों पर कार्रवाई रहेगी जारी

नगर निगम के क्षेत्रीय कराधान अधिकारी अजय वालिया ने बताया कि बकायादार दुकानदारों पर कार्रवाई किए जाने का अभियान जारी रहेगा। जिन दुकानों को सील किया गया है, उसे किराया जमा कर दुकानदार खुलवा सकता है। उन्होंने बताया कि अब तक नगर निगम द्वारा 57 दुकानों को सील किया जा चुका है। बकायदारों पर निगम की ओर से लगातार कार्रवाई जारी रहेगी।

Next Story