Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

व्यापारी बोले, लोगों की जान बचानी है तो पंद्रह दिन का लॉकडाउन लगा दिया जाए, नहीं तो हालत ज्यादा बिगड़ने का खतरा मंडरा रहा

मिटिंग में शहर के विधायक, मेयर, सीनियर डिप्टी मेयर भी शामिल हुए और सभी व्यापारियों ने शहर में कम से कम 15 दिनों के लॉकडाउन की मांग उनके समक्ष रखी, जिससे कि संक्रमितों की चेन को तोड़ा जा सके और हालात सुधर जाएं। बैठक में व्यापार एसोसिएशन के सदस्यों ने प्रशासन और सरकार की हरसंभव मदद का आश्वासन भी दिया।

व्यापारी बोले, लोगों की जान बचानी है तो पंद्रह दिन का लॉकडाउन लगा दिया जाए, नहीं तो हालत ज्यादा बिगड़ने का खतरा मंडरा रहा
X

हरिभूमि न्यूज : रोहतक

शहर में संक्रमितों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। इसको लेकर जहां स्वास्थ्य विभाग चितिंत है वहीं शहर के व्यापारी वर्ग में भी भय की स्थिति है। व्यापारी चाहते हैं कि 15 दिनों का लॉकडाउन लगा दिया जाए। उनका कहना है कि अगर ऐसा नहीं हाेता तो हालात और बदतर हो जाएंगे। पीजीआई सहित शहर के निजी अस्पतालों में मरीजों की भर्ती को लेकर जद्दोजहत है। मरीजों की संख्या ज्यादा है और अस्पतालों में बेड की संख्या कम। ऑक्सीजन सहित बेड को लेकर हर कोई जूझ रहा है। सरकार व्यवस्था को संभालने के लिए हर संभव कदम उठा रही है। ऐसे मेें शहर के व्यापारी भी लॉकडाउन की मांग को लेकर आगे आ गए हैं।

इसी को लेकर जूम मिटिंग के जरिए शहर की विभिन्न एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने अपने अपने विचार रखे। मिटिंग में शहर के विधायक, मेयर, सीनियर डिप्टी मेयर भी शामिल हुए और सभी व्यापारियों ने शहर में कम से कम 15 दिनों के लॉकडाउन की मांग उनके समक्ष रखी, जिससे कि संक्रमितों की चेन को तोड़ा जा सके और हालात सुधर जाएं। बैठक में व्यापार एसोसिएशन के सदस्यों ने प्रशासन और सरकार की हरसंभव मदद का आश्वासन भी दिया।

व्यापारियों ने चिंता व्यक्त की :  कोरोना से बिगड़ते हालातों को देखते हुए शहर के व्यापारियों व उद्योगपतियों ने ज़ूम मीटिंग के माध्यम से शहर के वर्तमान हालातों पर चिंता व्यक्त की। कोरोना को लेकर बढ़ती मृत्युदर को लेकर भी शहर के बुद्धिजीवी वर्ग ने अपनी चिंता जाहिर की। ज़ूम मीटिंग में व्यापारियों ने रोहतक शहर के सरकारी व गैर सरकारी अस्पतालों में बिगड़ती सुविधाओं को मध्य नज़र रखते हुए कोरोना की चैन को तोड़ने के लिए विधायक भारत भूषण बतरा, मेयर मनमोहन गोयल व सीनियर डिप्टी मेेयर राजकमल सहगल के समक्ष पूर्णतया लॉकडाउन की मांग की। मीटिंग में रोहतक ट्रेडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष हेमंत बख्शी, सर्राफ़ा एसोसिएशन के अध्यक्ष राकेश वर्मा, मॉडल टाऊन ट्रेडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष अजय धनखड़, सब्जी मंडी एसोसिएशन से साहिल मग्गू, गोहाना अड्डा एसोसिएशन अध्यक्ष तिलक राज मग्गू, अमित वर्मा, अजय मल्होत्रा, अमित परुथी, मोहित वाधवा सहित अन्य शामिल हुए।

बड़ा कदम उठाने की जरूरत

संक्रमितों की बढ़ती संख्या को रोकने के लिए लॉकडाउन लगाना जरूरी हो गया है। जो संक्रमित हैं उनको ठीक करने के लिए और अगले संक्रमितों को रोकने के लिए ये कदम उठाना बहुत आवश्यक है। पॉजिटिव लोग बाहर घूम रहे हैं क्योंकि उन्हें ये पता नहीं है कि वे संक्रमित हैं। इतना ही नहीं जिनके घरों में कोई संक्रमित है, उनके घर के अन्य व्यक्ति बाहर घूम रहे हैं। जिससे संक्रमण बढ़ता जा रहा है। इसे रोकना जरूरी है और इसका एकमात्र विकल्प लॉकडाउन है। जैसे कोरोना की पहली लहर में सरकार ने लॉकडाउन लगाया था वैसा ही लॉकडाउन और सख्ती अब जरूरी हो गई है। -हेमंत बख्शी प्रधान, रोहतक ट्रेडर्स एसोसिएशन

एक साथ सभी बाजार बंद हों

एक मार्केट के बंद होने से काम नहीं चलेगा, प्रशासन लॉकडाउन लगाए हम साथ देंगे। कम से कम 15 दिनों का लॉकडाउन लगाना चाहिए। अगर ये संभव नहीं है तो शनिवार व रविवार को पूर्णतया बंद किया जाना चाहिए। संक्रमितों का आंकड़ा ऐसे ही बढ़ता गया और हालात और बिगड़ गए तो संभल पाना मुश्किल हो जाएगा। अभी प्राइवेट और सरकारी अस्पतालों की जो स्थिति है वो किसी से छिपी नहीं है। इसलिए बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए प्रशासन को सख्त कदम उठाने चाहिए। आज की व्यापारियों की जूम मिटिंग में यही मांग रखी गई है। संक्रमण की चेन तोड़ना जरूरी हो गया है। -अजय धनखड़ मॉडल टाउन ट्रेडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष

लॉकडाउन की बात से सहमत

लॉकडाउन की बात से पूरी तरह से सहमत हूं। क्योंकि पिछले साल कोरोना में लॉकडाउन लगाकर ही स्थिति को संभाला गया था। इस बार कोरोना ने पहले भी भयंकर रुप धारण कर लिया है। ऐसे में पूर्णतया लॉकडाउन ही एकमात्र उपाय है। - साहिल मग्गू, युवा जिलाध्यक्ष राष्ट्रीय जन उद्योग व्यापार संगठन

सरकार तक बात पहुंचाई जाएगी

जूम मिटिंग में सभी व्यापारियों की बात को सुना है। अगर शहर के सभी व्यापारी अपने अपने लेटर हेड पर लॉकडाउन की मांग को लिखकर उन्हें देते हैं तो उसे सरकार तक पहुंचाया जाएगा। इसके बाद जो भी आदेश आएगा उसे अमल में लाया जाएगा। लॉकडाउन लगाने से संक्रमितों की संख्या में कमी आएगी, ये एक सकारात्मक कदम होगा। -राजकमल राजू सहगल, सीनियर डिप्टी मेयर

सर्वसम्मति से निर्णय लेना चाहिए : बतरा

सभी एसोसिएशन के पदाधिकारियों को एक बैठक कर सर्वसम्मति से एक निर्णय लेना चाहिए। लॉकडाउन से संक्रमण की चेन टूटेगी, ये एक अच्छा विकल्प है। व्यापारी की मांग को आगे सरकार के समक्ष प्रमुखता से रख जाएगा। किसी एक बाजार के बंद होने से बात नहीं बनेगी, सभी को एकजुट होकर एक निर्णय लेना होगा। - भारत भूषण बतरा, विधायक

और पढ़ें
Next Story