Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लॉकडाउन में बदमाशों के हौसले बुलंद, गैस कटर से एटीएम काटकर निकाले रुपये

बदमाशों ने अब गांव मातन में स्थित इंडिकैश कंपनी के एक एटीएम को निशाना बनाया है। पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस का कहना है कि जल्द ही बदमाशाें को गिरफ्तार कर यह वारदात सुलझाई जाएगी।

लॉकडाउन में बदमाशों के हौसले बुलंद, गैस कटर से एटीएम काटकर निकाले रुपये
X

बहादुरगढ़ : बदमाशों द्वारा वारदात के दौरान काटी गई एटीएम मशीन।

हरिभूमि न्यूज : बहादुरगढ़

लॉकडाउन में भले ही आमजन के बेवजह घूमने पर रोक है, लेकिन बदमाश वारदात को अंजाम देने से नहीं चूक रहे। बदमाशों ने अब गांव मातन में स्थित इंडिकैश कंपनी के एक एटीएम को निशाना बनाया। गैस कटर से मशीन काटकर बदमाश दो लाख 78 हजार 500 रुपये निकाल ले गए। पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस का कहना है कि जल्द ही बदमाशाें को गिरफ्तार कर यह वारदात सुलझाई जाएगी।

दरअसल, गांव मातन में इंडिकैश कंपनी का एटीएम बूथ है। रात के समय अज्ञात बदमाश इस एटीएम बूथ में घुसे और गैस कटर से मशीन का कैश बॉक्स काट दिया। कैश बॉक्स काटकर उसमें से दो लाख 78 हजार 500 रुपये निकाल ले गए। सुबह एटीएम अस्त व्यस्त देखा गया तो लोग हैरान हो गए। यह सूचना कंपनी के अधिकारी कुलदीप तक पहुंची तो वे हरकत में आए। उन्होंने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच शुरू की। एटीएम में सीसीटीवी नहीं थे। इसके बाद आसपास लगे सीसीटीवी खंगाले गए। लोगों से पूछताछ भी की गई। किन्हीं कारणों के चलते कंपनी के अधिकारी कुलदीप बहादुरगढ़ नहीं आ सके। फोन पर दी गई उनकी शिकायत पर मांडोठी चौकी पुलिस ने केस दर्ज किया है।

अभी तक हुई जांच में यही सामने आया है कि दो बदमाश वारदात में शामिल हुए। वे मंकी कैप पहने हुए थे। गैस कटर से मशीन काटने में काफी समय लगा होगा। बदमाशों ने तसल्लीपूर्वक वारदात को अंजाम दिया। साथ लगती एक दुकान के कैमरे में उनकी धुंधली तस्वीरें कैद हुई है। लेकिन चेहरे ढके होने के कारण पहचान संभव नहीं हो पा रही। आरोपितों तक पहुंचने के लिए पुलिस साइबर सैल की भी मदद ले रही है। इसके अलावा गांव में अन्य जगहों पर लगे कैमरे भी खंगाले जा रहे हैं। मांडोठी चौकी प्रभारी मुकेश कुमार ने बताया कि एटीएम मशीन काटकर रुपये निकालने का मामला सामने आया है। शिकायत के आधार पर केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। वारदात को सुलझाने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं।

Next Story