Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हरियाणा में खापों की पंचायत ने किसानों को समर्थन देने का ऐलान किया

गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में हुई ट्रैक्टर परेड के दौरान हिंसक घटनाओं के बाद रोहतक के जाट भवन में हरियाणा खापों की पंचायत हुई, जिसमें कई खापों के पदाधिकारियों ने शिरकत की। बैठक में अहम निर्णय लिए गए हैं।

हरियाणा में खापों की पंचायत ने किसानों को समर्थन देने का ऐलान किया
X

हरिभूमि न्यूज : रोहतक

पिछले 65 दिनों से तीन कृषि कानून के खिलाफ किसानों का आंदोलन जारी है। गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में हुई ट्रैक्टर परेड के दौरान हिंसक घटनाओं के बाद रोहतक के जाट भवन में हरियाणा खापों की पंचायत हुई, जिसमें कई खापों के पदाधिकारियों ने शिरकत की। पंचायत की अध्यक्षता 84 खाप के प्रधान हरदीप सिंह अहलावत ने की।

पत्रकारों से रूबरू होते हुए खाप के पदाधिकारियों ने बताया कि बैठक में यह निर्णय लिया गया है की हरियाणा की खापे अब इस किसान आंदोलन में बढ़-चढ़कर भाग लेंगी और किसानों के समर्थन में ट्रैक्टर ट्रॉली सहित बॉर्डर पर पहुंचेगी। वही खाप पंचायत को संबोधित करते हुए भारतीय किसान यूनियन अंबावता के प्रदेश अध्यक्ष अनिल नांदल उर्फ बल्लू प्रधान ने कहा कि किसान शांतिपूर्वक धरने पर बैठा है और सरकार के ऊपर कोई असर होता दिखाई नहीं दे रहा।

बल्लू प्रधान ने कहा 26 जनवरी को दिल्ली में लाल किला की घटना बेहद शर्मसार करने वाली है लेकिन यह सरकार की आंदोलन को खत्म करने की एक साजिश थी। साथ ही बल्लू प्रधान यह भी कहा कि सरकार को इस कांड की निष्पक्ष जांच करवानी चाहिए और तथ्य सामने आने चाहिए। उन्होंने कहा अब किसानों का आंदोलन निर्णायक मोड़ पर है और यह तब तक जारी रहेगा जब तक तीनों कानून रद्द नहीं होते। बल्लू प्रधान ने खाप पंचायतों से आग्रह किया कि वे आंदोलन में हर घर से एक-एक आदमी की भागीदारी सुनिश्चित करें ताकि आंदोलन को और मजबूती दी जा सके। इसके साथ-साथ उन्होंने गाजीपुर बॉर्डर पर हुई घटना की भी चर्चा करी, जिसकी खाप पंचायतों के प्रतिनिधियों ने कड़ा विरोध जताते हुए निंदा की। खाप प्रतिनिधियों ने कहा की सरकार किसान आंदोलन को बदनाम करने की जो साजिश कर रही है वह अपने मंसूबे में कामयाब नहीं होगी।खाप पंचायतें किसान आंदोलन को अपना पूरा समर्थन देती है।

Next Story