Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मन में आया लालच तो 11 साल के बच्चे का कर लिया अपहरण, पढ़ें आगे

दो आरोपियों को गिरफ्तार (Arrested) किया गया है। उनकी पहचान कल्याणपुरी दिल्ली निवासी सिद्धार्थ सद्धिार्थ और गाजीपुर दिल्ली निवासी अमन (Aman) के रूप में हुई है। अमन एसी मैकेनिक है, वहीं सिद्धार्थ कुत्तों का ट्रेनर है।

मन में आया लालच तो 11 साल के बच्चे का कर लिया अपहरण, पढ़ें आगे
X

गिरफ्त अपहरणकर्ताओं के संदर्भ में पत्रकारों को जानकारी देते डीसीपी सैन्ट्रल मुकेश मल्होत्रा।

फरीदाबाद। पल्ला थाना क्षेत्र में फिरौती के लिए अपहरण किए गए 11 वर्षीय बच्चे को पुलिस (police) ने बदमाशों के चंगुल से सकुशल छुड़ा लिया है। बदमाशों ने बच्चे को दिल्ली में गाजीपुर स्थित एक होटल में रखा हुआ था।

दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। उनकी पहचान कल्याणपुरी दिल्ली निवासी सिद्धार्थ सद्धिार्थ और गाजीपुर दिल्ली निवासी अमन के रूप में हुई है। अमन एसी मैकेनिक है, वहीं सिद्धार्थ (Siddharth) कुत्तों का ट्रेनर है। डीसीपी सेंट्रल मुकेश मल्होत्रा ने बताया कि दोनों आरोपी बचपन के दोस्त हैं। लाकडाउन में धंधा मंदा होने के कारण उनके मन में आसानी से पैसा कमाने का लालच जाग गया।

सिद्धार्थ ने अमन को बताया क सेक्टर-91 निवासी एक महिला को जानता है, जो कुत्तों की खरीद-फरोख्त का काम करती है। उसके पास काफी रुपया है। महिला का 11 साल का बेटा भी है। दोनों ने उसके बेटे का अपहरण करने की योजना बना डाली। 13 अक्टूबर की शाम करीब 6 बजे दोनों स्कूटी लेकर सेक्टर-91 गए। वहां महिला के 11 वर्षीय बच्चे को अकेले खेलते पाया तो बहला-फुसलाकर उसे अपने साथ ले गए। बच्चे को दोनों दिल्ली में गाजीपुर के एक होटल में ले गए।

उधर, महिला ने बच्चे की गुमशुदगी की रिपोर्ट पल्ला थाना पुलिस को कर दी। थाना प्रभारी सतीश कुमार ने टीम बनाकर बच्चे की तलाश शुरू की। पूनम के घर के पास लगा एक सीसीटीवी कैमरा खंगाला।

उसमें पूनम ने सिद्धार्थ को पहचान लिया, क्योंकि वह कुत्तों के सिलसिले में उससे मिलती रहती थी। पुलिस ने उसके परिवार वालों से संपर्क किया तो पता चला कि वह तीन दिन से लापता है। इसके बाद पुलिस उसके एक दोस्त तक पहुंची। दोस्त की मदद से सद्धिार्थ को पुलिस ने दबोच लिया। उसने पूछताछ में बच्चे के गाजीपुर स्थित एक होटल में होने की सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने वहां से बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया।

यह कहते है डीसीपी सैन्ट्रल

डीसीपी सैन्ट्रल मुकेश मल्होत्रा का कहना है कि सिद्धार्थ के साथी अमन को भी गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपियों ने बताया कि वे बच्चे की मां से फिरौती मांगने ही वाले थे, मगर उससे पहले ही पुलिस ने उन्हें दबोच लिया। जांच में अमन कोरोना पॉजीटिव पाया गया है। वहीं सिद्धार्थ को जेल भेज दिया है। बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया गया है। आरोपी फिरौती के लिए काल करने ही वाले थे। पल्ला थाना पुलिस की सक्रियता से कामयाबी हासिल हुई।




Next Story