Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना केस बढ़ने पर हरियाणा सरकार चिंतित : पिछली लहर में काम करने वाले युवाओं को फिर दिया जाएगा रोजगार

स्वास्थ्य मंत्री ने एक बार फिर से उन कर्मचारियों को बुलाने के निर्देश दिए हैं, जिन्होंने कोविड की पिछली लहरों में काम किया था। इस तरह के सभी कर्मचारी दोबारा उन्हें नौकरी पर रखे जाने की मांग कर रहे थे।

कोरोना केस बढ़ने पर हरियाणा सरकार चिंतित : पिछली लहर में काम करने वाले युवाओं को फिर दिया जाएगा रोजगार
X

योगेंद्र शर्मा : चंडीगढ़

हरियाणा एनसीआर के जिलों खास तौर पर गुरुग्राम और फरीदाबाद में कोविड-19 बढ़ते मामलों ने एक बार फिर हरियाणा स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों की नींद उड़ा दी है। हालांकि स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने परेशान नहीं होने और लोगों सावधानी बरतने के साथ के नियमों का पालन करने की अपील की है। स्वास्थ्य मंत्री ने एक बार फिर से उन कर्मचारियों को बुलाने के निर्देश दिए हैं, जिन्होंने कोविड की पिछली लहरों में काम किया था। ठेके पर लगाए गए इन कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया था। ये सभी कर्मचारी दोबारा उन्हें नौकरी पर रखे जाने की मांग कर रहे थे।

रविवार को आंकड़ों पर गौर करें तो फरीदाबाद और गुरुग्राम में संख्या सबसे ज्यादा है। प्रदेश में 479 केस पॉजिटिव आए हैं। रविवार को जारी आंकड़ों पर गौर करें तो 479 कोरोना संक्रमित केसों में गुरुग्राम में 332 केस जबकि फरीदाबाद में 122 मामले सामने आए हैं। सोनीपत में 9 पॉजिटिव केस, करनाल में तीन और चरखी दादरी में 2 मामले सामने आए हैं, इसी प्रकार से पलवल में एक मामला सामने आया है। धीरे धीरे कोविड-19 के आंकड़े 500 तक पहुंचने जा रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग के आला अफसरों और विशेषज्ञों ने लोगों को मात्र सावधानी बरतने की सलाह दी है, उन्होंने यह भी कहा है कि फिलहाल कोई चिंता वाली बात नहीं है, हरियाणा में सभी इंतजाम पूरे हैं।

मंत्री ने दिए निर्देश, कोरोना महामारी में सेवाएं देने वाले कर्मियों को बुलाएं

गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री हरियाणा अनिल विज ने इस संबंध में विभागीय आला अफसरों के साथ बातचीत करने के बाद लिखित में निर्देश जारी किए हैं। उन्होंने अपने निर्देशों में साफ किया है कि महामारी के दौरान जिन लोगों ने काम किया था, उनको दोबारा बुलाया जाए। इस तरह से कोविड-19 की लहरों और चुनौती के दौरान काम करने वाले युवाओं को दोबारा सेवा में रखने की तैयारी है। अनिल विज ने इस संबंध में अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा को प्राथमिकता के आधार पर चुनौतीपूर्ण वक्त में काम करने वाले सभी कर्मचारियों को दोबारा बुलाए जाने का निर्देश जारी किया है। उनका कहना है कि महामारी के संकट में काम करने वालों को प्राथमिकता के साथ रखकर एक बार फिर किसी भी तरह की चुनौती से निपटने के लिए हमारे डॉक्टर पैरामेडिकल स्टाफ तैयार हैं। स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज कहा कि पहले भी महामारी कॉविड के दौरान हरियाणा ने बेहतरीन काम किया था।

और पढ़ें
Next Story