Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

GST चुकाए बिना दिल्ली से कई राज्यों तक सामान पहुंचाने के खेल का भंडाफोड़, CM फ्लाइंग ने जब्त की कई गाड़ियां

दिल्ली से ट्रकों में सामान लेकर चलने वाले ट्रांसपोर्टरों ने सरकारी अधिकारियों से मिलीभगत कर अपना पूरा शेड्यूल बना रखा है। भ्रष्ट अधिकारी टैक्स चोरी के सामान से लदे ट्रकों को निकालने की एवज में एकमुश्त रकम लेते हैं।

फर्जी जीएसटी इनपुट टैक्स क्रेडिट मामले में दो लोग गिरफ्तार
X

प्रतीकात्मक फोटो

हरिभूमि न्यूज : बहादुरगढ़

दिल्ली से सामान खरीदकर बिना जीएसटी चुकाए हरियाणा समेत अन्य राज्यों तक पहुंचाने के खेल का भंडाफोड़ हुआ है। इस खेल में शामिल ट्रांसपोर्टरों और कारोबारियों ने पूरा अवैध तंत्र विकसित कर रखा है। लेकिन बीती रात सीएम फ्लाइंग की टीम ने कराधान विभाग की टीम के साथ मिलकर संयुक्त कार्रवाई को अंजाम दिया। पूरी रात हाईवे पर जागकर टैक्स चुराकर माल ले जा रहे ट्रकों व अन्य वाहनों को पकड़ा है।

दरअसल, मुख्यमंत्री उड़नदस्ते को सूचना मिली थी कि दिल्ली से अलग-अलग राज्यों में परचून का सामान ले जाने वाले कॉमर्शियल वाहन जीएसटी चोरी करते हैं। ट्रांसपोर्ट कंपनी जीएसटी के भुगतान और टैक्स चोरी वाले सामान के लिए अलग-अलग रेट चार्ज करती है। जीएसटी चोरी कर ले जाए जाने वाले माल के लिए कई गुना अधिक चार्ज लिया जाता है। रोज रात ऐसे सैकड़ों वाहन दिल्ली की सीमा पार कर यहां से गुजरते हैं। शुक्रवार रात चेकिंग का पता चलते ही बाकी वाहन इधर से गुजरे ही नहीं।

हालांकि दिल्ली से ट्रकों में सामान लेकर चलने वाले ट्रांसपोर्टरों ने सरकारी अधिकारियों से मिलीभगत कर अपना पूरा शेड्यूल बना रखा है। भ्रष्ट अधिकारी टैक्स चोरी के सामान से लदे ट्रकों को निकालने की एवज में एकमुश्त रकम लेते हैं। यही कारण है कि सीएम फ्लाइंग स्क्वॉड ने इस अभियान को बहुत ही गोपनीय रखा था। सीएम फ्लाइंग स्क्वॉड, स्थानीय पुलिस, गुप्तचर विभाग व जीएसटी विभाग की संयुक्त टीम बनाई गई थी। इन ट्रकों में टैक्स चोरीकर दिल्ली से सामान लाया जा रहा था। ट्रकों को जीएसटी विभाग के हवाले कर दिया गया है। विभाग के अधिकारी ट्रकों में भरे माल की जांच कर टैक्स चोरी के बारे में घटा-जोड़ कर रहे हैं। क्योंकि इन ट्रकों में खाने-पीने के सामान के साथ ही पान मसाला, गुटखा जैसी चीजें भी हैं, जिनपर भारी टैक्स लगता है।

और पढ़ें
Next Story