Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Farmers Protest Anniversary: कल आंदोलन की वर्षगांठ मनाएंगे किसान, टीकरी बॉर्डर पर बढ़ी भीड़, कई एकड़ में पंडाल बनाया

आंदोलन की वर्षगांठ को लेकर किसानों में उत्साह है और शुक्रवार को टीकरी बॉर्डर पर बड़े स्तर पर कार्यक्रम किया जाएगा। बड़ी तादाद में किसान बॉर्डर पर पहुंच रहे हैं।

Farmers Protest Anniversary: कल आंदोलन की वर्षगांठ मनाएंगे किसान, टीकरी बॉर्डर पर बढ़ी भीड़, कई एकड़ में पंडाल बनाया
X

टीकरी बॉर्डर धरना स्थल पर मौजूद किसानाें की भीड़।

हरिभूमि न्यूज. बहादुरगढ़

दिल्ली की सीमाओं पर चल रहे किसान आंदोलन ( Farmers Protest Anniversary ) को शुक्रवार को एक साल पूरा हो रहा है। आंदोलन की वर्षगांठ को लेकर किसानों में उत्साह है और शुक्रवार को टीकरी बॉर्डर पर बड़े स्तर पर कार्यक्रम किया जाएगा। बड़ी तादाद में किसान बॉर्डर ( Tikri Border ) पर पहुंच रहे हैं। टीकरी बॉर्डर के अलावा बहादुरगढ़ में नया गांव बाईपास के निकट उग्राहां द्वारा बढ़ा कार्यक्रम किया जाएगा। कई एकड़ में पंडाल बना दिया गया है। किसानों में जोश भरने के लिए पंजाब के कई बड़े नामी कलाकार भी आएंगे।

धरना स्थल पर पहुंचे निहंग बाबा कुलदीप खालसा ने कहा कि किसान-मजदूरों ने मिलकर बहुत संघर्ष किया है। काले कानूनों की वापसी किसानों की बड़ी जीत है। स्टेज पर किसी भी राजनीतिक व्यक्ति को लड्डू न खिलाएं। ये लड़ाई राजनेताओं ने नहीं बल्कि किसानों ने लड़ी है और अपने दम पर जीती है। हरदेव सिंह हरसी ने कहा कि अहंकार हारा है और संघर्ष ने जीत दर्ज की है। अभी हमारी कुछ और मांगें हैं, वे पूरी होती हैं तो ही घर लौटेंगे। आगामी 27 नवंबर को सिंघु बॉर्डर पर अहम बैठक है। जो फैसला होगा, उसका पालन करेंगे। जोगेंद्र नैन ने कहा कि एकता में बहुत ताकत होती है। एकता के बल पर ही हमारा आंदोलन मजबूती से आगे बढ़ रहा है। हम जीतेंगे और पूरा विश्व इस भाईचारे की मिसाल को हमेशा याद रखेगा।

कलाकार भी आएंगे

इस आंदोलन को शुरू से ही पंजाब, हरियाणा के कलाकारों का साथ मिलता रहा है। बब्बू मान, कंवर ग्रेवाल, हरभजन मान सहित तमाम बड़े कलाकार समय-समय पर बॉर्डर पर आकर किसानों में जोश भरते रहे हैं। इन्होंने कई गीत भी किसानों पर बनाए हैं और सोशल मीडिया पर भी लगातार आंदोलन को समर्थन दिया है। इसलिए शुक्रवार को आयोजित कार्यक्रम में बब्बू मान, ग्रेवाल सहित कई कलाकार आएंगे। दोपहर दो बजे से लेकर रात तक कार्यक्रम चलेगा।

पुलिस भी हुई चौकस

बॉर्डर पर लगातार बढ़ रही भीड़ को देखते हुए पुलिस प्रशासन भी चौकस हो गया है। इधर, हरियाणा पुलिस तो उधर दिल्ली पुलिस की नजर आंदोलनकारी किसानों पर है। हालांकि अभी बार्डर पर पांच फुट का रास्ता खुला है लेकिन सुरक्षा की दृष्टि से दिल्ली पुलिस ने कई ट्राले मंगवा लिए हैं। इन्हें बॉर्डर के निकट खड़ा किया है। जरूरत पड़ने पर पुलिस इन्हें अड़ाकर रास्ते बंद कर सकती है। इससे पहले हाल ही में दिल्ली पुलिस के अधिकारी किसान नेताओं के साथ बैठक कर चुके हैं। इधर, किसान नेता भी आंदोलनकारियों को संयम बतरने की लगातार सलाह दे रहेे हैं।

Next Story