Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली कोर्ट पेपर लीक : पेपर सॉल्वर गिरफ्तार, अब खुलेंगे कई राज

उचाना थाना पुलिस ने गत 28 फरवरी को मुर्गी फार्म पर छापेमारी कर दिल्ली न्यायालय डी ग्रुप पेपर लीकेज का भंडाफोड़ किया था। मामले में पंजाब कैग में आडिटर सुरेंद्र व अकाउंटेंट हरदीप को गिरफ्तार कर रिमांड पर लिया था।

सीएम फ्लाइंग की जांच में बड़ा खुलासा : हरियाणा पुलिस परीक्षा से पहले बिजली निगम क्लर्क का पेपर भी हुआ था लीक
X
पेपर लीक

हरिभूमि न्यूज. जींद

दिल्ली न्यायालय डी ग्रुप पेपर लीकेज मामले में गठित एसटीएफ ने पेपर सॉल्वर को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया। जहां से उसे दो दिन के रिमांड पर सौंप दिया। पुलिस आरोपित से गिरोह के अन्य सदस्यों के बारे में पूछताछ करेगी तथा पेपर लीकेज से संबंधित अन्य तथ्य जुटाएगी। उचाना थाना पुलिस ने गत 28 फरवरी को गांव काकड़ोद व नचारखेड़ा के बीच मुर्गी फार्म व मकान पर छापेमारी कर दिल्ली न्यायालय डी ग्रुप पेपर लीकेज का भंडाफोड़ किया था। इस मामले में पंजाब कैग में आडिटर सुरेंद्र व अकाउंटेंट हरदीप को गिरफ्तार कर पांच दिन के रिमांड पर लिया था। दोनों फोन पर आंसर की पढ़ा रहे थे।

मुख्य सरगना के तौर पर गांव काकडौद निवासी अशोक का नाम सामने आया था। जो मामले का भंडाफोड़ होने के बाद से भूमिगत है। बाद में जांच को जिला पुलिस से बदलकर एसटीएफ को दे दिया गया। एसटीएफ द्वारा की गई जांच में गांव रावलवास हिसार निवासी जसबीर का नाम सामने आया। जसबीर 28 फरवरी को पेपर सॉल्व करने वालों में था। उचाना थाना पुलिस द्वारा की गई छापेमारी की भनक लगने पर जसबीर समेत कुछ अन्य साथी फरार होने में कामयाब हो गए थे। एसटीएफ ने कार्रवाई करते हुए जसबीर को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया। जहां से अदालत ने आरोपित को दो दिन के रिमांड पर भेज दिया। रिमांड के दौरान पुलिस आरोपित से गिरोह के अन्य सदस्यों के बारे में पूछताछ करेगी। साथ ही इन तथ्यों को जुटाएगी कि पेपर सॉल्व करने की एवज में उसे कितनी राशि मिलती थी और गिरोह से कितने समय से जुड़ा हुआ था। इसके अलावा किन-किन परीक्षाओं के उसने पेपर सॉल्व किए। एसटीएफ के जांच अधिकारी राजेश ने बताया कि आरोपित पेपर सॉल्वर है। उसे अदालत से दो दिन के रिमांड पर लिया है। फिलहाल आरोपित से गिरोह के बारे में तथ्यों को जुटाया जा रहा है।

Next Story