Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बरोदा उपचुनाव : ईवीएम मशीन हैक की जानकारी ने उड़ाए पुलिस के होश, हिसार के युवक के पास मिली ईवीएम मशीन, पकड़ा

कई गांवों में ईवीएम (EVM) हैक करने वाली मशीन बोलकर कुछ युवकों को पकड़ा गया। हालांकि इन युवकों से जो मशीन पकड़ी गई थी, वे केवल मतदान स्लीप निकालने की मशीन थी। लेकिन मौके पर ग्रामीणों को ये बात समझाने में वे युवक भी फेल रहे।

बरोदा उपचुनाव : ईवीएम मशीन हैक की जानकारी ने उड़ाए पुलिस के होश, हिसार के युवक के पास मिली ईवीएम मशीन, पकड़ा
X

 युवकों से बरामद की गई मशीन।

हरिभूमि न्यूज. सोनीपत। बरोदा उप-चुनाव के लिये मंगवार को मतदान हुआ। 59 गांवों में से 20 गांवों को अतिसंवेदनशील गांवों की श्रेणी में रखा गया था, इसके बावजूद गांवों में कोई अप्रिय घटना नहीं हुई। विवाद बहुत हुए, लेकिन इतना बड़ा नहीं हुआ कि मतदान (vote) रोकना पड़े। हलके के लगभग हर एक गांव में बुजुर्गों को वोट डालने को लेकर परेशानी उठानी पड़ी।

जिसकी वजह से विवाद होते दिखे। वहीं इसके अलावा कई गांवों में ईवीएम हैक करने वाली मशीन बोलकर कुछ युवकों को पकड़ा गया। हालांकि इन युवकों से जो मशीन पकड़ी गई थी, वे केवल मतदान स्लीप निकालने की मशीन थी। लेकिन मौके पर ग्रामीणों को ये बात समझाने में वे युवक भी फेल रहे। इसी वजह से लगभग हर गांव में काफी विवाद हुआ।

वहीं इन गांवों में युवकों को पकड़ने और ग्रामीणों द्वारा पूछताछ करने की वीडियो भी पूरी तरह से वायरल हुई। विशेषतौर पर कांग्रेस नेताओं ने इन वीडियो को वायरल किया। दोपहर होते-होते ये वीडियो हलके के लगभग हर मोबाइल में पहुंच चुकी थी। कांग्रेस ने इन वीडियो में भाजपा पर सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग करते हुए ईवीएम हैक करने का भी आरोप लगाया।

इन सबके अलावा कुछ गांवों में रिजर्व रखी गई ईवीएम को लेकर भी सवाल खड़े किए गए। हालांकि इन लोगों को बाद में समझा दिया गया। वहीं आहुलाना गांव में मतदान केंद्र पर कुछ लोगों ने लड्डू बांटे। गांव में शांतिपूर्वक मतदान होने के कारण ही आहुलाना में इस तरह से लड्डू बांटे गए।

वोटर स्लीप निकालना पड़ा महंगा

उप-चुनाव के दौरान अधिकतर गांवों में युवकों को पकड़ा गया था। इनके पास से एक मशीन भी बरामद की गई। एक गांव में एक युवक को पकड़ा गया था। इस युवक को कांग्रेस नेताओं ने पकड़ा था। युवक ने बताया कि वह हिसार का रहने वाला है और दिहाड़ी पर आया है।

ग्रामीणों की पूछताछ में युवक ने बताया कि उसे 1 हजार रुपये दिन की दिहाड़ी दी गई थी और मशीन चलाने की ट्रेनिंग भी दी गई थी। इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं और ग्रामीणों ने शक जताया कि भाजपा ईवीएम हैक कर रही है, क्योंकि ये युवक मतदान केंद्र के पास इस मशीन का प्रयोग करते देखे गए थे। घड़वाल, बुटाना, रिंढाना, धनाना सरीखे लगभग हर गांव में इस तरह का विवाद सामने आया है। कुछ जगहों से पुलिस ने कुछ युवक को काबू भी किया, हालांकि बाद में इन्हें छोड़ दिया गया।



Next Story