Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आदेश के बावजूद शस्त्र जमा न कराने वालों पर होगी कार्रवाई, लाइसेंस होंगे निरस्त

नगर निगम चुनाव को लेकर 20 दिसंबर तक का समय निर्धारित था। निर्धारित समय सीमा में सरकारी आदेश के बावजूद शस्त्र जमा न कराने वालों पर पुलिस ने कार्रवाई की तैयारी कर ली है।

पुलिस अधीक्षक जश्नदीप सिंह रंधावा
X
पुलिस अधीक्षक जश्नदीप सिंह रंधावा

हरिभूमि न्यूज. सोनीपत

नगर निगम चुनाव में किसी तरह की गड़बड़ी न हो सके इसके चलते चुनाव से पहले ही प्रशासन ने सभी शस्त्र लाइसेंस धारकों को अपने शस्त्र जमा कराने के आदेश दिया था। इसके लिए 20 दिसंबर तक का समय निर्धारित था। निर्धारित समय सीमा में सरकारी आदेश के बावजूद शस्त्र जमा न कराने वालों पर पुलिस ने कार्रवाई की तैयारी कर ली है। उनके खिलाफ धारा 188 के तहत कार्रवाई करने के साथ ही उनके लाइसेंस निरस्त करने के लिए इसकी रिपोर्ट डीसी कार्यालय भेजी गई हैं। जल्द ही हथियार जमा न करवाने वालों के लाइसेंस निरस्त करने की प्रक्रिया अमल में लाई जायेगी।

निगम चुनाव सोनीपत का चुनाव 27 दिसंबर को होना है। इसके चलते शस्त्र लाइसेंस धारकों से अपने हथियार जमा कराने को कहा गया था। प्रशासन ने इसके लिए 20 दिसंबर तक का समय दिया था। सरकारी आदेश जारी करने के साथ ही बीट कांस्टेबल ने लाइसेंस धारकों के यहां संपर्क किया था। उसके बावजूद कई लाइसेंस धारकों ने अपने हथियार जमा नहीं कराए। जिले में कुल 7330 शस्त्र लाइसेंस धारकों में 345 ने अपने हथियार जमा नहीं कराए हैं। अब इन पर सरकारी आदेशों का पालन न करने के चलते कार्रवाई करने का निर्णय लिया गया है। एसपी जश्नदीप सिंह ने ऐसे लोगों को किसी प्रकार की राहत देने से मना कर लिया है। उन्होंने थाना अनुसार सूची के आधार पर तत्काल कार्रवाई कर रिपोर्ट मांगी है। जिन्होंने लाइसेंस जमा नहीं कराए उन पर कार्रवाई की तैयारी कर ली हैं।

चार थानों में 100 फीसदी हथियार हुए जमा

एसपी के आदेश के बाद जिले के चार थाना क्षेत्रों में 100 फीसदी लाइसेंसी हथियार जमा करा लिए गए हैं। इनमें राई, सदर सोनीपत, मुरथल व गन्नौर थाना शामिल है। इन थाना क्षेत्रों के सभी लाइसेंस धारकों ने अपने हथियार जमा करा दिए हैं।

लाइसेंस निरस्त करने को लिखा गया

निगम चुनाव को लेकर जिला प्रशासन की तरफ से लाइसेंस धारको को जमा करवाने के दिशा-निर्देश दिए गए थे। सरकारी आदेशों के बावजूद लाइसेंस जमा न कराना गैर जिम्मेदाराना व्यवहार हैं। इनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई का निर्णय लिया गया हैं। इनके लाइसेंस निरस्त करने को लिखा गया हैं। साथ ही इनके खिलाफ कार्रवाई की जा रही हैं। उच्च अधिकारियों के दिशा-निर्देशों पर आगामी कार्यवाही अमल में लाई जायेगी।- डा. रवींद्र कुमार, डीएसपी

Next Story