Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अवैध निर्माण को लेकर एक्शन में आई MCD , तीनों नगर निगमों ने मिलकर बनाया ये प्लान

देश की राजधानी दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके (Jahangirpuri area) में हुई हिंसा और नगर निगम (Municipal Corporation of Delhi) की बुलडोजर (Bulldozer) कार्रवाई के बाद विपक्ष के निशाने पर आई बीजेपी अब दिल्ली के कोने-कोने में बुलडोजर चलाने जा रही है।

अवैध निर्माण को लेकर एक्शन में आई MCD , तीनों नगर निगमों ने मिलकर बनाया ये प्लान
X

देश की राजधानी दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके (Jahangirpuri area) में हुई हिंसा और नगर निगम (Municipal Corporation of Delhi) की बुलडोजर (Bulldozer) कार्रवाई के बाद विपक्ष के निशाने पर आई बीजेपी अब दिल्ली के कोने-कोने में बुलडोजर चलाने जा रही है। इस दौरान दिल्ली के तीनों नगर निगम ने मिलकर अवैध अतिक्रमण हटाने का फैसला लिया है।

इसी कड़ी में शुक्रवार को दक्षिण और पूर्वी दिल्ली के नगर निगम अधिकारियों की बैठक हुई. जहां एसडीएमसी (SDMC) के मेयर मुकेश सूर्यन (Mukesh Suryan) ने कहा कि सार्वजनिक जमीन पर बने अवैध ढांचों को तोड़ा जाएगा। उन्होंने कहा कि अधिकारी इस संबंध में क्षेत्र का सर्वेक्षण कर रहे हैं और सोमवार तक सूची तैयार हो जाएगी। दक्षिण और पूर्वी दिल्ली निगमों ने मिलकर उन स्थानों की पहचान करना शुरू कर दिया है जो अतिक्रमण के दायरे में आती हैं और जिन्हें तोड़ा जाना है।

जब मुकेश सूर्यन से पूछा गया कि क्या शाहीन बाग और ओखला जैसे संवेदनशील स्थानों से अतिक्रमण हटाया जाएगा तो उन्होंने कहा कि हर जगह से अतिक्रमण हटाया जाएगा। वही दूसरी ओर पूर्वी दिल्ली नगर निगम के मेयर श्याम सुंदर अग्रवाल (Shyam Sundar Agarwal) का कहना है कि अतिक्रमण के चलते कई इलाकों में गंभीर समस्या पैदा हो गई है।

इससे जाम की स्थिति बनी रहती है। उन्होंने कहा कि अतिक्रमण से हटाए जाने वाले क्षेत्रों में नंद नगरी, जाफराबाद और सीलमपुर शामिल हैं। उन्होंने बताया कि अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई से एक दिन पहले उस क्षेत्र में लाउडस्पीकर (loudspeakers) के माध्यम से लोगों को बताया जाएगा कि उस क्षेत्र में कब अतिक्रमण हटाना है। बात दें बीते दिनों दिल्ली बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने दोनों निगमों के मेयरों को पत्र लिखकर अपने इलाके में अवैध निर्माण कर रहे रोहिंग्या (Rohingyas) और बांग्लादेशियों (Bangladeshis) की दुकानों को हटाने की मांग की थी।

और पढ़ें
Next Story