Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Delhi Corona: दिल्ली एयरपोर्ट पर आइसोलेट की मुहर लगाने के लिए नई स्याही का इस्तेमाल

कांग्रेस के नेता गौड़ यक्षी ने नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी को ट्विटर के जरिये कहा था कि दिल्ली हवाई अड्डे पर यात्रियों पर मुहर लगाने के लिए इस्तेमाल में लाए जा रहे रसायन की जांच की जाए। उसे दर्द और खुजली होने लगी। पुरी ने जवाब दिया कि इस पर ध्यान दिलाने के लिए धन्यवाद।

Delhi Corona: दिल्ली एयरपोर्ट पर आइसोलेट की मुहर लगाने के लिए नई स्याही का इस्तेमाल
X
नई स्याही का इस्तेमाल

दिल्ली अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर विदेश से आने वाले यात्रियों पर आइसोलेट की मुहर लगाने के लिए अब नई स्याही का प्रयोग किया जाएगा। अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी। इससे पहले कांग्रेस के एक नेता ने इस्तेमाल की जा रही स्याही में प्रयुक्त रसायन से त्वचा पर खुजली और दर्द की शिकायत की थी। एक अधिकारी ने कहा कि शिकायत के बाद दिल्ली राज्य के अधिकारियों ने विदेश से आने वाले यात्रियों के लिए नई स्याही का प्रयोग करना शुरू कर दिया है।

नियमानुसार, विदेश से आने वाले सभी यात्रियों को सात दिन संस्थागत पृथक-वास और उसके बाद सात दिन तक घर में पृथक-वास में रहना है। हालांकि जिन यात्रियों के पास यात्रा शुरू होने से 96 घंटे पहले कराई गई जांच में संक्रमण की पुष्टि न होने का प्रमाण पत्र है, उन्हें संस्थागत पृथक-वास से छूट दी गई है। नियमानुसार जिन यात्रियों को घर पर पृथक-वास में रहना होता है, हवाई अड्डे से निकलने से पहले उनके हाथ पर मुहर लगा दी जाती है।

कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव और प्रवक्ता मधु गौड़ यक्षी ने नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी से रविवार को ट्विटर के जरिये कहा था कि दिल्ली हवाई अड्डे पर यात्रियों पर मुहर लगाने के लिए इस्तेमाल में लाए जा रहे रसायन की जांच की जाए। उन्होंने कहा था कि जब वह शनिवार को विदेश से दिल्ली आए और उन पर मुहर लगाई गई तब उन्हें दर्द और खुजली होने लगी। पुरी ने जवाब दिया कि इस पर ध्यान दिलाने के लिए धन्यवाद। मैंने भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के मुख्य प्रबंध निदेशक से बात की है।

दिल्ली हवाई अड्डे का प्रबंधन जीएमआर समूह के डीआईएएल द्वारा किया जाता है इसलिए कंपनी ने यक्षी को ट्विटर पर जवाब दिया कि आपूर्तिकर्ता द्वारा इस स्याही की जांच के लिए इसे अलग रख दिया गया है और आगे की कार्रवाई की जाएगी। डीआईएएल ने कहा कि असुविधा के लिए हमें खेद है। मुहर लगाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली स्याही ऐसी है जिसे मिटाया नहीं जा सकता। हमने दिल्ली राज्य के अधिकारियों को इससे अवगत करा दिया है।

Next Story