Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सुस्ती पर भड़के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री संतोष, कहा- बाहर तो निकलना पड़ेगा, डरने से नहीं चलेगा काम

भाजपा के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष प्रदेश भाजपा संगठन की वर्चुअल बैठक में सबकी सुनने के बाद अंत में सब पर जमकर भड़के। साफ शब्दों में कहा, सुस्ती से काम चलने वाला नहीं है। आपको बाहर तो निकलना पड़ेगा और काम भी करना पड़ेगा। डरने से कुछ होने वाला नहीं है, सावधानी रखें, डबल मास्क पहनें और काम करें।

सुस्ती पर भड़के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री संतोष, कहा- बाहर तो निकलना पड़ेगा, डरने से नहीं चलेगा काम
X

रायपुर. भाजपा के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष प्रदेश भाजपा संगठन की वर्चुअल बैठक में सबकी सुनने के बाद अंत में सब पर जमकर भड़के। साफ शब्दों में कहा, सुस्ती से काम चलने वाला नहीं है। आपको बाहर तो निकलना पड़ेगा और काम भी करना पड़ेगा। डरने से कुछ होने वाला नहीं है, सावधानी रखें, डबल मास्क पहनें और काम करें। अगर आप सोच रहे हैं कि महज कांग्रेस को कोसने से काम हो जाएगा, तो ऐसा नहीं है। आपको अपने क्षेत्र में लोगों की मदद करनी होगी। जनता के बीच आप नहीं जाएंगे, तो कैसे काम चलेगा।

भाजपा के राष्ट्रीय संगठन ने देश के हर राज्य को कोरोना की इस लहर में काम करने का जिम्मा सौंपा है। शुक्रवार को इसकी समीक्षा के लिए राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष ने प्रदेश भाजपा की बड़ी बैठक ली। इसमें प्रदेश कोरग्रुप के सदस्यों, प्रदेश पदाधिकारियों, सांसद, विधायक, टीकाकरण अभियान की टीम, कोरोना हेल्प डेस्क टीम, सेवा ही संगठन टीम व जिला अध्यक्ष शामिल हुए। बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदेव साय, नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक सहित चार सांसदों केंद्रीय मंत्री रेणुका सिंह, विजय बघेल, सुनील सोनी, मोहन मंडावी, विधायक बृजमोहन अग्रवाल, शिवरतन शर्मा, नारायण सिंह चंदेल और अजय चंद्राकर के साथ कुछ जिलाध्यक्षों को बोलने का मौका मिला। सभी ने अपने-अपने क्षेत्र के बारे में बताया कि क्या कर रहे हैं। भाजपा प्रदेश प्रभारी डी. पुरन्देश्वरी ने कहा, कोरोना संक्रमण में हम सबकों मिलकर कार्य करना होगा जिससे प्रदेश की जनता को राहत पहुंचाया जा सके। समाज के साथ भाजपा के कार्यकर्ता जुड़कर अच्छा कार्य कर रहे हैं।

जमकर बरसे राष्ट्रीय संगठन महामंत्री

सबकी सुनने के बाद अंत में बीएल संतोष ने जब बोलना प्रारंभ किया तो सबकी हालत पतली हो गई। वे जमकर बरसे और कहा, आपको काम करना पड़ेगा, बाहर निकलना पड़ेगा, भीड़ से भी बचना होगा। सावधानी के साथ काम करना है। मास्क और वैक्सीन के अलावा कोई विकल्प नहीं है। उन्होंने कहा, देश में 10 हजार से ज्यादा कार्यकर्ताओं को भाजपा ने खो दिया है। हमारा कार्यकर्ता भाषण देने का जरिया नहीं है। कार्यकर्ता हमारा परिवार है। पहली लहर में अच्छा काम किया है, लेकिन अभी समस्याएं ज्यादा हैं। अभी चुनौती का समय है और अवसर का समय भी है। अभी इस समय में संक्रमण से सावधानी रखने का काम जरूरी है।

कांग्रेस काे कोसने से कुछ नहीं होगा

श्री संतोष ने कहा, आप यह बात अच्छी तरह से समझ लें कि कांग्रेस को कोसने या मुख्यमंत्री पर आरोप लगाने से कुछ नहीं होगा। केवल कांग्रेस सरकार के खिलाफ बयानबाजी में लगे रहते हैं। जमीन पर काम करिए। आपको जनता के बीच जाना है। उनकी मदद करनी है। उन्होंने कहा आपके राज्य में भी कोरोना गांव तक पहुंच गया है। ग्रामीण क्षेत्रों में फोकस करना है। छोटे छोटे गांवों में सरपंचों से बात करें, उनके क्षेत्रों को कोरोना मुक्त कराना है। वैक्सीन के लिए केंद्र सरकार मदद कर रही है। यह बात गांव गांव तक पहुंचाएं। वैक्सीन की कमी है, इसके बावजूद जितनी वैक्सीन उपलब्ध हो रही है वो लोगों तक पहुंचे, इस पर काम करना है।

तब क्यों नहीं घेरा टीएस को

राष्ट्रीय संगठन महामंत्री ने सवाल किया, जब आपके राज्य के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा, यह तो भाजपा की वैक्सीन है, तब किसने उनसे सवाल किया। उसी समय क्यों कर उनको नहीं घेरा गया। राहुल गांधी से लेकर दिग्विजय सिंह, अखिलेश यादव तक ने वैक्सीन को भाजपा की वैक्सीन कहा, तब क्यों इस मामले में कुछ नहीं किया गया। उन्होंने कहा, हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 16-16 घंटे काम करते हैं। कई मुख्यमंत्री पांच घंटे भी काम नहीं करते हैं। प्रधानमंत्री के खिलाफ बोलने वालों को एक्सपोज करें।

Next Story