Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

PDS से बंटा फोर्टिफाईड चावल, लोगों ने समझा प्लास्टिक के दाने : बीजापुर के ग्रामीणों में चावल को लेकर संशय

सरकारी चावल यानी PDS में प्लास्टिक की तरह दिखने वाले दाने मिलने से लोग दहशत में हैं। वे इस चावल को खाने को लेकर चिंतित नजर आ रहे हैं। जिनको ये चावल मिला है वो कह रहे ये बात.. पढ़िये पूरी खबर-

PDS से बंटा फोर्टिफाईड चावल, लोगों ने समझा प्लास्टिक के दाने : बीजापुर के ग्रामीणों में चावल को लेकर संशय
X

जगदलपुर। बस्तर अंचल के बीजापुर जिले में राशन योजना के तहत मिलने वाले सरकारी चावल यानी PDS में प्लास्टिक की तरह दिखने वाले दाने मिलने से लोग दहशत में हैं। वे इस चावल को खाने को लेकर चिंतित नजर आ रहे हैं। जिनको ये चावल मिला है वे बता रहे हैं कि, 50 किलो की चावल की बोरियों में एक से डेढ़ किलो यह दाने मिलाए गए हैं। वहीं खाद्य अधिकारी ने प्लास्टिक चावल वाली बात को भ्रामक प्रचार कहा है।

मिली जानकारी के मुताबिक राज्य के धुर नक्सल प्रभावित क्षेत्र गोरला पंचायत में शासकीय उचित मूल्य की दुकान से ग्रामीणों ने चावल लिया। घर जाकर जब चावल साफ करने व बनाने के लिए बोरियां खोलीं तो चावल के दाने के साथ प्लास्टिक की तरह दिखने वाले चावल के दाने दिखे। ऐसे में ग्रामीणों ने इसका वीडियो बना कर सोशल मीडिया में वायरल कर दिया।

फोर्टिफाईड चावल है, घबराने की जरूरत नहीं: खाद्य अधिकारी

उधर इस बाबत पूदे जाने पर खाद्य विभाग के अफसर कहते हैं कि, उचित मूल्य की दुकान में फोर्टिफाईड चावल का वितरण किया जा रहा है जो पोषणयुक्त होता है। फोर्टिफाईड चावल में आयरन, विटामिन बी-12, फॉलिक एसिड जैसे पोषक तत्व पर्याप्त मात्रा में होते हैं। इस चावल के उपयोग से कुपोषण में कमी आएगी। यह विशेष प्रकार के पोषण वाला फोर्टिफाईड चावल है। उन्होंने कहा कि किसी भी ग्रामीणों को घबराने की जरुरत नहीं है। विभाग ने इस चावल को महिलाओं और बच्चों के लिए विशेष लाभकारी बताया है। फोर्टिफाईड चावल में जरूरी सूक्ष्म पोषक तत्व को विटामिन और खनिज मात्रा को कृत्रिम तरीके से बढ़ाया जाता है। जिस तरह साधारण नमक में आयोडीन मिलाकर उसे आयोडाइज्ड बनाया जाता है। चावल को फोर्टिफाईड बनाना भी इसी तरह की एक प्रक्रिया है। इस प्रक्रिया में चावल की पोषण गुणवत्ता में सुधार लाया जाता है।

Next Story