Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

छत्तीसगढ़ : पेंड्रा-मरवाही में हाथियों की आमदरफ्त बढ़ी, दहशत में ग्रामीण, विधायक को बदलना पड़ा रास्ता

छत्तीसगढ़ के पेंड्रा मरवाही के आसपास के जंगलों में हाथियों के दल ने डेरा डाल रखा है। किसान बेहद चिंतित हैं। जान पर खतरे के साथ उन्हें फसलों के नुकसान की भी आशंका है। मायूस किसान जान बचाने के साथ-साथ फसलें बचाने की जद्दोजहद में भी हैं। वन विभाग की टीमें बार-बार हिदायत दे रही हैं कि किसान जंगलों की तरफ न जाएं। पढ़िए पूरी खबर-

छत्तीसगढ़ : पेंड्रा-मरवाही में हाथियों की आमदरफ्त बढ़ी, दहशत में ग्रामीण, विधायक को बदलना पड़ा रास्ता
X

पेंड्रा। मरवाही में हाथियों का उत्पात चौथे दिन भी लगातार जारी है। यहां मरवाही रेंज के नाका गांव में मौजूद 42 हाथियों के दल ने दो ग्रामीणों के मकानों को क्षतिग्रस्त कर दिया है, तो वहीं तीन ग्रामीणों की फसल को नुकसान पहुंचाया है। वहीं हाथियों की आवाजाही से भी कई किसानों की फसलें बर्बाद हुई हैं। कल 30 नवंबर से नाका गांव के पास हाथियों ने डाल रखा है। इस दल में दो शावक भी हैं।

आपको बता दें कि हाथियों की मौजूदगी ग्रामीणों में चिंता का सबब बनी हुई है, तो वहीं वन विभाग की टीम हाथी मित्र दल के साथ हाथियों के आसपास मौजूद रहकर लोगों को हाथियों के समीप नहीं जाने की हिदायत दे रही हैं। वहीं कल हाथियों ने सात मकानों को क्षतिग्रस्त किया था। सभी प्रभावितों को तत्काल मुआवजा देने की पहल की जा रही है। वहीं कल भरतपुर सोनहत विधायक गुलाब कमरो जब रायपुर से मनेन्द्रगढ़ जा रहे थे, दानीकुंडी गांव के पास रास्ते में हाथी होने के कारण करीब एक घंटा उनको रूकना पड़ा और बाद में वे रास्ता बदलकर आगे बढ़े। वहीं मरवाही वनमंडलाधिकारी हाथियों की मूवमेंट पर नजर बनाये हुए हैं और हाथी मित्र दलों के जरिए लोगों को हाथियों के प्रभावित क्षेत्रों में नहीं जाने की अपील कर रहे हैं। देखिए जंगल में कैसे विचरण कर रहे हैं हाथी-

Next Story