Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Big News : महिला अफसर से बदतमीजी- बुलडोजर चलवाना है तो ले आइए, बेजा-कब्जा नहीं हटाउंगा…अपशब्दों का भी प्रयोग

Big News : महिला अफसर से बदतमीजी- बुलडोजर चलवाना है तो ले आइए, बेजा-कब्जा नहीं हटाउंगा…अपशब्दों का भी प्रयोग
X

छत्तीसगढ़ के मुंगेली जिले में महिला अधिकारी के साथ एक कथित भाजपा नेता के द्वारा बदतमीजी करने की घटना सामने आई है। नेता पर आरोप है कि एक तो उसने जमीन पर अवैध कब्जा किया है, जब अवैध कब्जा को हटाने से पहुंचे तो कथित भाजपा नेता ने सरकारी अमले की महिला अधिकारी से बदतमीजी भी की। पढ़िए पूरी खबर-

राहुल यादव (लोरमी)। लोरमी नगर पंचायत क्षेत्र अंतर्गत हल्का नंबर 23 के पटवारी गजाधर पैकरा ने कुछ महीने पहले लोरमी से ढोलगी मुख्य मार्ग से लगे वार्ड क्रमांक 14 राम्हेपुर में अवैध कब्जा कर मकान बनाए जाने की लिखित शिकायत की थी। शिकायत की जांच की गई, जांच में शिकायत सही पाई गई, लेकिन इसके बावजूद तहसीलदार लीलाधर ध्रुव द्वारा कार्रवाई नहीं की गई। हालांकि तहसीलदार ने पहले तो कोरोना को कारण बताया था, लेकिन अब तहसीलदार का कहना है कि मामला अदालत में लंबित होने के कारण कार्रवाई नहीं की जा सकी है। रहवासियों का कहना है कि जिस जमीन को सरकारी बताई जा रही है, उस पर से कब्जा नहीं हटाना तहसीलदार की भूमिका को संदिग्ध बनाता है।

इसके बाद वार्ड पार्षद सालिक बंजारे और वहां के नागरिकों ने इसकी शिकायत एसडीएम मेनका प्रधान से की। एसडीएम ने शिकायत को गंभीरता से लेते हुए संबंधित सीएमओ सविना अनंत से तुरंत फोन पर बातचीत की और मौके का निरीक्षण करने कहा। एसडीएम से निर्देश मिलते ही सीएमओ सविना मौके पर पहुंची और अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई के पहले मौके का मुआयना करने लगी। लेकिन, इस समय वहां पर अशोक जायसवाल नामक व्यक्ति भी मौजूद था, जिसे भाजपा नेता बताया जा रहा है। आरोप है, अशोक जायसवाल ने सीएमओ सविना अनंत से बदतमीजीपूर्वक कहा कि आपको बुलडोजर लाना है, ले आइए और तोड़ डालिए, लेकिन मैं यहां मकान का काम नहीं रोकूंगा।

इस मामले में सीएमओ सविना अनंत ने बताया कि कुछ महीने पहले नगरवासियों की द्वारा वार्ड नंबर 14 में किए जा रहे अतिक्रमण की शिकायत की गई थी। संबंधित को इस आशय की नोटिस भी दी गई थी, लेकिन लॉकडाउन के कारण अतिक्रमण नहीं हटाया जा सका था। आज एसडीएम से निर्देश मिलने पर स्थल निरीक्षण करने पहुंची, जहां पर अतिक्रमणकारी के द्वारा हमारे साथ अभद्रतापूर्ण व्यवहार किया गया और अपशब्दों का प्रयोग किया गया। साथ ही धमकी दी गई कि बुलडोजर चलवाना है, चलवा दो लेकिन मैं काम नहीं रोकूंगा।

Next Story