Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

तीन माह मे गैस 190 रुपए महंगी, औंधे पड़े उज्जवला के सिलेंडर, 29 लाख कनेक्शन और रिफिल सिर्फ सात लाख

तीन माह में गैस सिलेंडर 190 रुपए महंगा हो गया। सामान्य उपभोक्ताओं की जेबें तो हल्की हो ही रही है, सरकारी उज्जवला योजना के सिलेंडर भी कबाड़ की शक्ल में हैं। उपभोक्ताओं ने गैस सिलेंडर रिफिल कराना ही छोड़ दिया है। आकड़े बताते हैं कि उज्जवला के 29 लाख से ज्यादा कनेक्शन हैं और महीने में रिफिल कराने वालों की संख्या महज सात लाख है। इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि महंगाई ने स्थिति किस तरह विकट कर रखी है।

तीन माह मे गैस 190 रुपए महंगी, औंधे पड़े उज्जवला के सिलेंडर, 29 लाख कनेक्शन और रिफिल सिर्फ सात लाख
X
एलपीजी गैस सब्सिडी

रायपुर. तीन माह में गैस सिलेंडर 190 रुपए महंगा हो गया। सामान्य उपभोक्ताओं की जेबें तो हल्की हो ही रही है, सरकारी उज्जवला योजना के सिलेंडर भी कबाड़ की शक्ल में हैं। उपभोक्ताओं ने गैस सिलेंडर रिफिल कराना ही छोड़ दिया है। आकड़े बताते हैं कि उज्जवला के 29 लाख से ज्यादा कनेक्शन हैं और महीने में रिफिल कराने वालों की संख्या महज सात लाख है। इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि महंगाई ने स्थिति किस तरह विकट कर रखी है।

वर्तमान में गैंस सिलेंडर की कीमत प्रति सिलेंडर 840 रुपए के पार पहुंच गई है। गैस कंपनियाें व राज्य खाद्य विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक दिसंबर से अब तक प्रति सिलेंडर करीब 190 रुपए तक महंगा हुआ है। राज्य खाद्य विभाग व उज्ज्वला गैस कनेक्शन वितरक गैस एजेंसियों के अधिकारियाें की मानें, तो प्रदेश में 29.6 लाख के करीब उज्ज्वला गैस कनेक्शन हैं। इसमें से उज्ज्वला गैस कनेक्शन के तहत प्रति महीने केवल 7 लाख 18 हजार गैस रीफिलिंग हो रही है। वितरक एजेंसियों से मिले आंकड़े के अनुसार पिछले अप्रैल से दिसंबर 2020 तक 9 महीने में कुल 64 लाख 7 हजार गैस की रीफिलिंग की गई है। इस आंकड़े के आधार पर उज्ज्वला गैस कनेक्शन के तहत प्रति महीने तीन गुना कम गैस की रीफिलिंग हो रही है। उज्ज्वला गैस कनेक्शन वितरक एजेंसियों से मिले इन आंकड़ों से यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि लगातार महंगे हो रहे गैस सिलेंडर के कारण राज्य में उज्ज्वला योजना के तहत बीपीएल परिवारों के लिए अपने घर के चूल्हे जला पाना कितना मुश्किल हो रहा है। इस तरह सामान्य गैस उपभोक्ता व उज्ज्वला गैस कनेक्शनधारी दोनों के लिए ही महंगा गैस सिलेंडर बजट से बाहर होता जा रहा है।

सब्सिडी के नाम पर सिर्फ 64 रुपए

प्रदेश में उज्ज्वला गैस कनेक्शन वितरक के लिए तीन एजेंसियां हैं। इनमें हिंदुस्तान पेट्रोलियम गैस, इंडियन ऑयल गैस, भारत गैस शामिल हैं। इन एजेंसियों के वितरकों से मिली जानकारी के मुताबिक वर्तमान में उज्ज्वला कनेक्शनधारी व सामान्य गैस कनेक्शन के लिए लगभग 64 रुपए तक प्रति सिलेंडर सब्सीडी दी जा रही है, जबकी गैस की महंगाई सब्सीडी से तीन गुना ज्यादा हो गई है। इससे सब्सीडी से भी गैस उपभाेक्ताओं को किसी तरह से राहत नहीं पहुंच पा रही।

नया कनेक्शन नहीं जोड़ रहे

राज्य खाद्य विभाग व वितरक एजेंसियों का कहना है कि राज्य में उज्ज्वला के अंतर्गत फिलहाल नए कनेक्शन नहीं जोड़े जा रहे हैं। हालांकि बजट में केंद्र सरकार ने उज्ज्वला के अंतर्गत नए गैस कनेक्शन जोड़ने की बात कही है, लेकिन अभी तक कनेक्शन जोड़ने का किसी तरह का आदेश नहीं आया है। जब तक आदेश नहीं आता, नया कनेक्शन रुका रहेगा।

ऐसे समझें गैस की बढ़ती महंगाई को

01 दिसंबर को 650 रुपए 50 पैसे

15 दिसंबर को 115 रुपए महंगा 765.50 रुपए

01 जनवरी 765.50 रुपए

04 फरवरी 790.50 रुपए

15 फरवरी 840 रुपए

और पढ़ें
Next Story