Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बिहार में पहली बार दो नवजात मिले कोरोना पॉजिटिव, पटना एम्स में ही पैदा हुए दोनों

बिहार में पहली बार दो नवजात बच्चे भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। बताया गया कि दोनों का जन्म पटना एम्स में ही हुआ था। चार दिन का लड़का व पांच लड़की संक्रमित पाई गई है। फिलहाल उपचाररत दोनों बच्चों की हालत स्थिर है। वहीं पटना में रविवार को 616 नए संक्रमित मरीज मिले।

first time two newborns got corona positive in bihar both born in patna aiims
X
प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार में पहली बार रविवार को चार दिन का लड़का और पांच दिन की बच्ची कोरोना संक्रमित मिले हैं। पटना का चार दिन का बच्चा एम्स में ही पैदा हुआ है। उसकी मां भी कोरोना संक्रमित है। वहीं नहर रोड, जलालपुर की पांच दिन की बच्ची ने भी इसी अस्पताल में जन्म लिया है। बच्ची की मां भी संक्रमित है। दोनों बच्चों को उनकी मां से अलग रखा गया है। दोनों ही बच्चों की हालत स्थिर बताई जाती है। एम्स के शिशु रोग के हेड डॉक्टर लोकेश तिवारी ने बताया कि बिहार में इतने कम दिन के बच्चे पहली बार संक्रमित हुए हैं। इनके अलावा एम्स में 24 नए संक्रमित भर्ती हुए। इनमें एक डॉक्टर भी शामिल हैं।

पटना में पहली बार कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 600 को पार कर गया है। रविवार को 616 नए संक्रमित मरीज मिले। जिले में अब संक्रमितों की संख्या 6433 पर पहुंच गई है। वहीं 3814 मरीज ठीक भी हो चुके हैं। अभी 2578 एक्टिव केस हैं। रविवार को पटना में 870 सैंपल की जांच की गई। बिहार में पहली बार जांच के दौरान दो नवजात भी कोरोना संक्रमित पाए गए। दोनों बच्चों का जन्म भी पटना एम्स में ही हुआ है। पीएमसीएच में 327 सैंपल की जांच में 107 संक्रमित मिले।

संक्रमितों में पीएमसीएच के 7 डॉक्टर, 4 ड्रेसर समेत 34 स्वास्थ्यकर्मी शामिल हैं। इनमें माइक्रोबायोलॉजी विभाग के दो डॉक्टर, एक पैथोलॉजी व एक फार्माकोलॉजी विभाग के डॉक्टर शामिल हैं। राजेंद्रनगर, कंकड़बाग, कदमकुआं, आनंदपुरी, मुसल्लहपुर हाट, बिहारी साव लेन, राजाबाजार, पटना सिटी, दानापुर, कुम्हरार, नया टोला, जगदेव पथ, खाजपुरा, उत्तरी पटेलनगर, सुल्तानगंज, पुलिस लाइन, खगौल, बख्तियारपुर, गोला रोड आदि इलाके में भी मरीज हैं।

आईजीआईएमएस में रविवार को जांच नहीं हुई। बैकलॉग खत्म हो जाने की वजह से लैब को बंद करके सेनेटाइज किया गया है। सोमवार से फिर यहां जांच होगी। एनएमसीएच के माइक्रोबॉयोलॉजी विभाग में 130 सैंपल की जांच में 32 संक्रमित मिले। इस विभाग के एक टेक्नीशियन भी संक्रमित हो गए हैं।

रैपिड एंटीजन किट द्वारा कोरोना जांच रविवार से फुलवारीशरीफ व संपतचक प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में शुरू हो गई। फुलवारीशरीफ प्राथमिक स्वास्थ्य कें में 18 लोगों की जांच में स्वास्थ्य कें के एक सफाईकर्मी और एक चतुर्थवर्गीय कर्मचारी समेत 4 लोग संक्रमित पाए गए। वहीं संपतचक में 8 लोगों की जांच में 3 लोग संक्रमित मिले। संपतचक प्राथमिक स्वास्थ्य कें के प्रभारी डॉक्टर लक्षमण प्रसाद ने बताया कि सोमवार से कोरोना की जांच संपतचक स्कूल में होगी।

मसौढ़ी में उपकारा के चार कर्मियों समेत 6 लोगों की रिपोर्ट संक्रमित मिली। उनमें एक सरवां गांव निवासी है। फतुहा पीएचसी में 50 लोगों की एंटीजन किट से जांच की गई। इसमें सात लोग कोरोना पॉजिटिव मिले। चिकित्सा प्रभारी डॉक्टर सुधा शंकर राय ने बताया कि संक्रमितों में एक महिला वार्ड पार्षद, एक अन्य वार्ड पार्षद के दो परिजन व एक पत्रकार शामिल हैं। सभी को होम क्वारेंटाइन में रहने की सलाह दी गई है। बिहटा रेफरल अस्पताल में 21 लोगों की जांच की गई, जिनमें एक व्यक्ति संक्रमित पाया गया।

खुसरूपुर पीएचसी में 10 लोगों के सैंपल की जांच की गई। उनमें एक व्यक्ति की रिपोर्ट संक्रमित आई। बाढ़ प्रखंड के विभिन्न गांव व मोहल्ले के 20 लोगों की रिपोर्ट रविवार को कोरोना पॉजिटिव पाई गई है। जानकारी देते हुए बीडीओ अमरेंद्र कुमार सिन्हा ने बताया कि बीते 23 जुलाई को बाढ़ अनुमंडल अस्पताल से कुल 96 लोगों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे, जिसमे रविवार को 48 लोगों की रिपोर्ट आई है। इसमें 20 लोग संक्रमित पाए गए हैं। इनमें अगवानपुर, राणा बीघा व शहरी क्षेत्र के लोग शामिल हैं।

Next Story