Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सीएम नीतीश कुमार व डीएम समेत 14 लोगों पर मुजफ्फरपुर में दर्ज हुआ यह संगीन मामला

बिहार के सीएम नीतीश कुमार व मुजफ्फरपुर जिला मजिस्ट्रेट समेत 14 लोगों पर मुजफ्फरपुर सिविल अदालत में मामला दर्ज हुआ है। मतदाता सूची में गड़बड़ी के आरोप को लेकर यह मामला दर्ज किया गया है।

Case against CM Nitish Kumar and Muzaffarpur DM with 14 people on voter list disturbance
X

मुजफ्फरपुर सिविल अदालत वकील जयचंद्र प्रसाद साहनी

मुजफ्फरपुर सिविल अदालत के वकील जयचंद्र प्रसाद साहनी (Muzaffarpur civil court lawyer Jayachandra Prasad Sahni) के बताए अनुसार मुजफ्फरपुर (Muzaffarpur) के चाकी सोहागपुर पंचायत (Chaki Sohagpur Panchayat) में वोटर (Voters) के तौर पर अन्य पंचायत के लोगों के नाम भी सूचीबद्ध कर दिए गये हैं। इसी मामले को लेकर सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) और मुजफ्फरपुर डीएम (Muzaffarpur DM) समेत कुल 14 लोगों पर मुजफ्फरपुर सिविल अदालत (Muzaffarpur civil court) में मामला दर्ज (case filed) किया गया है।

राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा बिहार पंचायत चुनाव को लेकर तैयार की गई मतदाता सूची में बड़े पैमाने पर गड़बड़ी को रोकने के लिए कड़ा प्रावधान किया गया है। आयोग के प्रावधान के अनुसार अंतिम वोटर लिस्ट प्रकाशित करते वक्त हर बीडीओ को लिखित में यह प्रमाण देना होगा कि प्रकाशित वोटर लिस्ट पूरी तरह से सही है। राज्य निर्वाचन आयोग के इस कड़े प्रावधान के बाद से वोटर लिस्ट तैयार करने वाली एजेंसी से लेकर संबंधित अफसरों के बीच हड़कंप मचा हुआ है।

राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव योगेंद्र राम ने इस प्रवाधान के संबंध में निर्देश जारी किए हैं। योगेंद्र राम ने बताया कि आयोग ने सभी बीडीओ को विधानसभा की वोटर लिस्ट में से ऐसे लोगों के नाम की लिस्ट भेजी है। जिन लोगों का नाम किसी वजह से पंचायत की वोटर लिस्ट में जुड़ नहीं सका है। इसके बाद हर बीडीओ छूटे वोटर्स के नाम वाली सूची डाउनलोड कर देख लें कि पंचायत चुनाव के लिए प्राकाशित प्रारूप में उन सभी वोटर्स के नाम शामिल हैं या नहीं। यदि उनके नाम को लेकर कोई गलती रह गई तो सभी बीडीओ उसमें सुधार कर लें।

Next Story