Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दूध की डेयरी चलाने वाले की बेटी बनी जज, गायों के बाड़े में काम के साथ पढ़ाई कर हासिल की कामयाबी

प्रताप नगर क्षेत्र में दूध की डेयरी चलाने वाले की बेटी सोनल शर्मा ने कमाल कर दिखाया है। वो जज बन गई है। राजस्थान न्यायिक सेवा प्रतियोगी भर्ती परीक्षा 2018 की वेटिंग लिस्ट में सोनल शर्मा ने भी जगह बनाई है, जिसके नतीजे बुधवार को घोषित किए गए।

दूध की डेयरी चलाने वाले की बेटी बनी जज, गायों के बाड़े में काम के साथ पढ़ाई कर हासिल की कामयाबी
X

सोनल शर्मा बनी जज

उदयपुर। कहते हैं इंसान अगर कुछ करने की ठान ले तो वह उस चीज को हासिल कर के ही रहता है। हम आपको एक ऐसा ही एक वाकिया बताने जा रहे हैं जिसे सुनकर आप भी हैरान हो जाएंगे। राजस्थान के उदयपुर में इक बिटिया की हर तरफ चर्चा हो रही है। इस लड़की का साहस और कड़ी मेहनत रंग लाई है। यहां प्रताप नगर क्षेत्र में दूध की डेयरी चलाने वाले की बेटी सोनल शर्मा ने कमाल कर दिखाया है। वो जज बन गई है। राजस्थान न्यायिक सेवा प्रतियोगी भर्ती परीक्षा 2018 की वेटिंग लिस्ट में सोनल शर्मा ने भी जगह बनाई है, जिसके नतीजे बुधवार को घोषित किए गए।

जज बनकर पिता का सपना सच कर दिखाया

दूध की डेयरी चलाने वाले की बेटी सोनल शर्मा ने जज बनकर अपना और पिता का सपना पूरा कर दिखाया है। सोनल शर्मा उदयपुर के प्रतापनगर की रहने वाली है। मां का नाम ख्यालीलाल शर्मा और पिता का नाम जसबीर है। लव मैरिज करने वाले इस जोड़े के घर 7 दिसम्बर 1993 को एक बेटी का जन्‍म हुआ जिसका नाम सोनल रखा गया। सोनल स्कूल और कॉलेज स्तर पर भी कई मेडल प्राप्त कर चुकी हैं।

एलएलबी में प्रदेश की हैं टॉपर

सोनल शर्मा एलएलबी में प्रदेश की टॉपर रहीं हैं। उन्‍हें महाराणा मेवाड़ चैरिटेबल भामाशाह अवार्ड भी मिल चुका है। इसके साथ ही सोनल ने आरजेएस का रिजल्ट आने से एक दिन पहले ही उदयपुर के सुखाड़िया विवि के दीक्षांत समारोह में हिस्सा लिया, यहां उसने दो गोल्ड समेत तीन मेडल प्राप्त किए। उन्‍हें एक चांसलर मेडल भी मिला है।

गौशाला में गौबर तक उठाया

सोनल शर्मा के भाई-बहन काबिल हैं। उनकी बड़ी बहन लीना शर्मा कैग में बतौर हिंदी ट्रांसलेटर काम कर रही हैं, छोटी बहन किरण शर्मा डीयू से पढ़ाई कर रही है। वहीं छोटा भाई हिमांशु शर्मा अजमेर से जर्नलिज्म की पढ़ाई कर रहा है। सोनल ने बतया कि जब से वो चौथी कक्षा में थी तब से उनके पिताजी डेयरी का संचालन कर रहे हैं। सबसे खास बात ये कि डेयरी का सारा कामकाज सोनल और उनके माता-पिता ही करते हैं। खुद सोनल ने गायों के बाड़े में काम के साथ साथ पढ़ाई की है।

Next Story