Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

देवास के काज़ी ने महिला तहसीलदार को दी धमकी- 'कुर्की की तो माहौल खराब होगा'

प्रशासन की टीम शासकीय शुल्क की वसूली ना होने के कारण कुर्की करने पहुंची थी इस दौरान शहर काजी और तहसीलदार पूनम तोमर के बीच हुई तीखी नोकझोंक। पढ़िए पूरी खबर-

देवास के काज़ी ने महिला तहसीलदार को दी धमकी- कुर्की की तो माहौल खराब होगा
X

देवास। मध्यप्रदेश के देवास में महिला तहसीलदार जब एक मदरसे में शासकीय शुल्क की वसूली के लिए पहुंची, तो वहां हंगामा हो गया। कार्यवाही को लेकर तहसीलदार मैडम और देवास के शहर काजी के बीच नोक-झोंक बहसबाजी होने लगी। इतना ही नहीं बहस में शहरकाजी ने इतना तक बोल दिया कि क्या आप शहर का माहौल खराब करना चाहती हैं ?

मामला देवास के नुसरत नगर में स्थित एक मदरसा का है, जहां आज प्रशासन की टीम शासकीय शुल्क की वसूली ना होने के कारण कुर्की करने पहुंची थी। इस दौरान वहां पर मौजूद शहर काजी और तहसीलदार पूनम तोमर के बीच इस कार्यवाही को लेकर तीखी नोकझोंक भी हो गई। इतना ही नहीं बातों-बातों में शहर काजी ने तहसीलदार मैडम को यह तक कह दिया कि क्या आप शहर का माहौल खराब करना चाहती हो?

दरअसल 2009 और 2010 में देवास के नुसरत नगर स्थित जमीन पर शैक्षणिक डायवर्सन कर मदरसे का निर्माण हुआ था लेकिन मदरसे के बाहर खुली जमीन पर 2013-14 में ग्वालियर से महालेखाकार की ऑडिट टीम ने आपत्ति लगाकर 1 लाख 66 हजार का शासकीय शुल्क भरने का आदेश जारी किया गया था। 2013 से अभी तक मदरसे द्वारा ये राशि जमा नहीं की गई थी, जिसके चलते वसूली के लिए कुर्की की कार्यवाही करने आज प्रशासन की टीम पहुंची थी। इस दौरान तहसीलदार और शहरकाजी की आपस में बहसबाजी के बाद कार्यवाही रुक गई। फिलहाल मामला उच्चाधिकारियों के पाले में पहुंच गया है।

तहसीलदार पूनम तोमर ने इस मामले में बताया कि- 'नुसरत नगर में स्थित एक मदरसे में प्रशासन की टीम कार्रवाई करने पहुंची थी, जहां से वसूली नहीं हो पाई है। आज से प्रशासन की टीम ने शासकीय शुल्क की वसूली का अभियान शुरू कर दिया है 30 मार्च तक शासकीय शुल्क की वसूली की जाएगी'

वहीं मदरसे संचालन समिति का कहना है कि मदरसे में गरीब बच्चों की तालीम होती है और ऐसे मदरसों को सरकार भी मदद करती है ऐसे में मदरसों पर इस तरह की कार्यवाही अनुचित है।

और पढ़ें
Next Story