Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

देखें किसान आंदोलन के बारे में क्या बोले गुरनाम सिंह चढूनी

चढूनी ने कहा राजा ही जनता की बात ना सुने और उसका शोषण करने लगे तो उसे राज करने का कोई अधिकार नहीं है। हमारे देश में भी ऐसा ही हो रहा है।

देखें किसान आंदोलन के बारे में क्या बोले गुरनाम सिंह चढूनी
X

बदोवाला टोल प्लाजा पर किसानों के धरने को सम्बोधित करते गुरनाम सिंह चढूनी।

हरिभूमि न्यूज. नरवाना

किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी ने कहा कि परमात्मा के बाद जनता का रखवाला राजा होता है और यदि राजा ही जनता की बात ना सुने और उसका शोषण करने लगे तो उसे राज करने का कोई अधिकार नहीं है। हमारे देश में भी ऐसा ही हो रहा है। देश का राजा यानी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के अन्न को कुछ लोगों की मुट्ठी में बंद करके देश को भुखमरी की ओर अग्रसर करने में लगे हुए हैं। किसान नेता गुरनाम सिंह चढूनी मंगलवार को बद्दोवाला टोल प्लाजा पर धरनारत किसानों को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के साथ किसानों की 11 दौर की वार्ता हो चुकी है लेकिन सरकार एमसपी की गांरटी को लेकर किसानाें का पक्ष नहीं ले रही। जिस कारण सभी वार्ता बेनतीजा रही। उन्होंने कहा किसान आंदोलन पर देश के प्रधानमंत्री कह रहे हैं कि किसानों की मांगों के लिए सिर्फ एक फोन कॉल की दूरी है लेकिन एक फोन कॉल की दूरी तो अमेरीका तक भी। ये कब, कहां और कौन सी फोन कॉल की बात कर रहे हैं। इसका तो कोई पता नहीं लेकिन देश का अन्नदाता यह ठान चुका है कि जब तक तीनों कृषि कानून रद्द नही हो जाते और एमएसपी गारंटी कानून नहीं बनता आंदोलन इसी प्रकार की जारी रहेगा।

छह फरवरी के राष्ट्रीय चक्का का किया ऐलान

गुरनाम सिंह चढूनी ने बद्दोवाला टोल प्लाजा पर किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि किसान आंदोलन के समर्थन में छह फरवरी को राष्ट्रीय स्तर के चक्का जाम का ऐलान सयुंक्त किसान मोर्चा द्वारा किया गया है। उन्होंने किसानों से आह्वान किया छह फरवरी को प्रस्तावित इस चक्का को सफल बनाने के लिए शांति बना कर रखें। जरूरतमंद व्यक्ति व वाहन को रास्ता दें।


Next Story