Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पुलिस लाइन में फेंके हैंड ग्रेनेड, दागे टियर गैस के गोले

मॉक ड्रिल में पुलिस के तामझाम तथा ताकत प्रदर्शन के पीछे मुख्य उद्देश्य गणतंत्र दिवस तथा किसान आंदोलन को देखते समीक्षा करना रहा, ताकि जिले में कानून व्यवस्था एवं शांति बनी रहे।

पुलिस लाइन में फेंके हैंड ग्रेनेड, दागे टियर गैस के गोले
X

मॉक ड्रिल करते पुलिस जवान। 

हरिभूमि न्यूज. जींद

जिला पुलिस ने शनिवार को पुलिस लाइन में हैड ग्रेनेड व टियर गैस के गोले दागे, साथ ही वाटर कैनन का प्रयोग भी किया। लगभग तीन घंटे तक जिला पुलिस यह गतिविधियां लगातार जारी रही। मॉक ड्रिल में पुलिस के तामझाम तथा ताकत प्रदर्शन के पीछे मुख्य उद्देश्य गणतंत्र दिवस तथा किसान आंदोलन को देखते समीक्षा करना रहा। ताकि जिले में कानून व्यवस्था एवं शांति बनी रहे। मौके पर मौजूद डीआईजी कम एसपी ओमप्रकाश नरवाल ने पुलिस तैयारियों का अवलोकन किया और समीक्षा भी की। इस दौरान अन्य पुलिस अधिकारी भी मौजूद रहे। वहीं, पुलिस को 26 जनवरी तक हाई अलर्ट मोड पर रखा गया है। किसी भी तरह के हालातों से निपटने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल को तैनात किया गया है।

पुलिस लाइन में की गई मॉक ड्रिल के दौरान पुलिस की वजरा, वाटर कैनन के साथ काफी संख्या में पुलिस कर्मियों ने भाग लिया। विशेषज्ञों की देखरेख में पुलिस कर्मियों ने हैंड ग्रेनेड के गोले फेंके तो वजरा गाड़ी से टियर गैस के गोले भी दागे। हैंड ग्रेनेड फेंके जाने के चलते घास में लगी आग को वाटर कैनन से बुझाया गया। यह सब गणतंत्र दिवस तथा किसान आंदोलन के मध्यनजर पुलिस कर्मियों का अपनी तैयारियों का पूर्व अभ्यास था। मॉक ड्रिल के माध्यम से जिला पुलिस ने अपने सुरक्षा उपकरणों को जांचा तो पुलिस कर्मियों को विभिन्न तकनीकियों के बारे में भी बताया गया।

कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए किया ताकत का आंकलन

किसान आंदोलन चला हुआ है जो दिल्ली की तरफ कूच कर रहे है, साथ ही गणतंत्र दिवस भी 26 जनवरी को मनाया जा रहा है। ऐसे हालातों में शरारती तत्वों के सक्रिय होने की आशंका के चलते नकारा नहीं जा सकता। गणतंत्र दिवस पर कानून व्यवस्था बनी रही और जिले में शांति भंग न हो जिसके चलते पुलिस ने शनिवार को पुलिस लाइन में मॉक ड्रिक के माध्यम से अपनी ताकत का आंकलन और पूर्व अभ्यास किया।

डीआईजी कम एसपी ओमप्रकाश नरवाल ने बताया कि पुलिस को हाई अलर्ट मोड पर रखा गया है। सभी इलाकों में गश्त को बढ़ा दिया गया है। संदिग्ध लोगों पर लगातार नजर रखी जा रही है। सभी सार्वजनिक परिवहन व अन्य साधनों को जांचा जा रहा है। बाजार, बस अड्डा, रेलवे स्टेशन, धर्मशाला, गेस्ट हाउस जैसे स्थानों पर लगातार नजर रखी जा रही है।


Next Story