Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

डेंगू आउट ऑफ कंट्रोल, तेजी से बढ़ रहे मरीज

रोहतक जिले में पिछले साल से तुलना करें तो इस बार ज्यादा मरीज दर्ज किए गए हैं। पिछले साल नवंबर तक 201 मरीज थे, जबकि इस पार 312 हो चुके हैं। हर रोज नए मरीज मिल रहे हैं। गांवों की अपेक्षा शहरी क्षेत्रों में ज्यादा मरीज सामने आए हैं। शनिवार को भी 13 नए मरीज मिले हैं।

डेंगू आउट ऑफ कंट्रोल, तेजी से बढ़ रहे मरीज
X

दिल्ली डेंगू (डोमो तस्वीर)

हरिभूमि न्यूज : रोहतक

डेंगू मच्छर का डंक तेज होता जा रहा है। करीब सवा दो महीने में मरीजों की संख्या 3 से बढ़कर 300 के पार पहुंच गई है। 6 सितंबर को डेंगू के कुल 3 मरीज थे, 13 नवंबर तक ये आंकड़ा 312 हो गया है।

पिछले साल से तुलना करें तो इस बार ज्यादा मरीज दर्ज किए गए हैं। पिछले साल नवंबर तक 201 मरीज थे, जबकि इस पार 312 हो चुके हैं। हर रोज नए मरीज मिल रहे हैं। गांवों की अपेक्षा शहरी क्षेत्रों में ज्यादा मरीज सामने आए हैं। शनिवार को भी 13 नए मरीज मिले हैं। टिटोली में 3 मरीज सामने आए जबकि समर गोपालपुर, संजय नगर, सेक्टर-14, मदीना, करौंथा, संजय नगर, नेहरू कॉलोनी, बाबरा मोहल्ला, कमला नगर और मकड़ोली कलां में एक-एक मरीज दर्ज किया गया है। स्वास्थ्य विभाग ने फिर चेतावनी दी है कि घरों में या अपने आसपास पानी जमा होने के सभी कारक खत्म कर दें।


शहर में जागरूकता अभियान भी चलाया जा रहा है। पूरे शहर में लगातार फोगिंग करवाई जा रही है। सभी से अपील है कि डेंगू फैलाने वाले मच्छर पैदा न होने दें। बुखार होते ही डॉक्टर की सलाह लें और टेस्ट भी करवाएं। पीजीआई के चिकित्सा अधीक्षक के साथ भी पिछले दिनों बैठक की गई थी। डेंगू के मरीजों को लेकर स्पेशल वार्ड बनाए गए हैं। -डॉ. अनुपमा मित्तल, उप सिविल सर्जन मलेरिया

जिले में एंटी लार्वा एक्टिविटी का प्रोग्राम चलाया जा रहा है। लगातार लोगों का आह्वान किया जा रहा है कि आसपास पानी जमा न होने दें। सावधानी बरतें और मच्छर पैदा न होने दें। टीम द्वारा यह भी जानकारी जुटाई जा रही है कि डेंगू पॉजिटिव मरीज के घर व आस-पास कोई बुखार का मरीज तो नहीं। अगर है तो उन्हें खाने, पीने व अन्य बेसिक जानकारी दी जा रही है। -डॉ. जेएस पूनिया, सिविल सर्जन, रोहतक

Next Story