Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रिश्वतखोर सफाई निरीक्षक दो दिन के विजिलेंस रिमांड पर, कई नाम आ सकते हैं सामने

सफाई ठेकेदार से 13.70 लाख रुपये की रिश्वत लेते पकड़ा गया था सुधीर, भाजपा के कई नेताओं, पार्षदों व अधिकारियों में मचा हुआ है हड़कंप।

एसीबी की बड़ी कार्रवाई : यूआईटी के तीन सीनियर अधिकारियों को रिश्वत लेते पकड़ा, ले रहे थे मोटी रकम
X

रिश्वत मामले में कार्रवाई

पानीपत। हरियाणा विजिलेंस के रोहतक ब्यूरो ने मंगलवार को पानीपत नगर निगम के रिश्वत लेने के आरोपित मुख्य सफाई निरीक्षक सुधीर को पानीपत में अदालत में पेश किया। विजिलेंस रोहतक टीम का पक्ष सुनने के बाद कोर्ट ने आरोपित सुधीर को दो दिन के रिमांड पर पूछताछ के लिए विजिलेंस को सौंप दिया। गौरतलब है कि सुधीर को विजिलेंस रोहतक ब्यूरो ने सोमवार की शाम को लाल बत्ती चौक पर ठेकेदार कृष्ण हुड्डा से 1.37 करोड़ के बिल पास करने के एवज में 13.70 लाख रूपये की रिश्वत लेते हुए रंगें हाथों गिरफ्तार किया था।

वहीं सुधीर ने रिश्वत में रूपये मिले को उधार लेन-देन का मामला बताया था। इधर, पानीपत जिला में इतनी बडी राशि की रिश्वत लिए जाने का यह पहला मामला है। वहीं यदि बीते समय पर नजर दौडाई जाए तो रिश्वत के आरोपित को विजिलेंस द्वारा रिमांड पर लिए जाने का भी यह पहला मामला है। दूसरी ओर, सुधीर के विजिलेंस द्वारा रिमांड पर लिए जाने से भाजपा के कई नेताओं, पार्षदों व अधिकारियों में हडकंप मचा हुआ है। सुधीर के इतनी बडी राशि के साथ पकडे जाने से यह तो तय है कि रिश्वत लेन देन के मामले में मुख्य सफाई निरीक्षक सुधीर अकेला नहीं है। वहीं, इफ्टू के प्रदेशाध्यक्ष व आरटीआई एक्टिविस्ट पीपी कपूर ने सफाई निरीक्षक सुधीर को संरक्षण देने वाले अधिकारियों व भाजपा नेताओं को भी गिरफ्तार करने व सुधीर की संपति की जांच की मांग की है। कपूर ने कहा कि 20 सालों से पानीपत में नियुक्त सुधीर ही पानीपत नगर निगम में सफाई मामलों में हुए कथित घोटालों का मास्टर माइंड है।




Next Story