Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रेवाड़ी शहर में 200 बैड का अस्पताल बनाया जाएगा

हरियाणा के सहकारिता मंत्री डॉ बनवारी लाल ने कहा रेवाड़ी का नागरिक अस्पताल (Civil hospital) भीड़-भाड व आबादी वाले क्षेत्र में होने के कारण, यहां पर कई बार मरीज को लाने में देरी हो जाती है।

रेवाड़ी शहर में 200 बैड का अस्पताल बनाया जाएगा
X

हरियाणा के सहकारिता मंत्री डाॅ. बनवारी लाल रेवाड़ी के नागरिक अस्पताल में वैक्सीन लगवाने वाले लोगों से अनुभव सांझा करते हुए।

हरियाणा के सहकारिता मंत्री डॉ बनवारी लाल ने कहा कि रेवाड़ी शहर में 200 बैड का अस्पताल बनाया जाएगा। इसके लिए जगह की तलाश की जा रही है। उन्होंने कहा कि रेवाड़ी का नागरिक अस्पताल भीड़-भाड व आबादी वाले क्षेत्र में होने के कारण, यहां पर कई बार मरीज को लाने में देरी हो जाती है।

डॉ बनवारी लाल रेवाड़ी के नागरिक अस्पताल में कोविड वैक्सीनेशन सेटर का निरीक्षण कर रहे थे। इस अवसर पर सहकारिता मंत्री के स्टॉफ व पत्रकारों ने भी वैक्सीन लगवाई। डॉ बनवारी लाल ने कहा कि रेवाड़ी में अब तक 93 हजार 178 लोगों ने टीकाकरण करवा लिया है व ''टीका उत्सव'' के तहत ज्यादा से ज्यादा नागरिकों को टीकाकरण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश के किसी भी वैक्सीनेशन सेंटर पर कोरोना के टीके की कमी नहीं है।

उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि बाबा साहब डॉ. भीमराव अम्बेडकर की जयंती 14 अप्रैल तक चलने वाले ''टीका उत्सव'' के लिए निर्धारित आयु वर्ग के लोगों को प्रेरित करें एवं लोगों को टीकाकरण केन्द्रों में ले जाने में मदद करें।

मंत्री ने कहा कि ''टीका उत्सव'' के दौरान पांच लाख लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया है। यह टीकाकरण पीएचसी, सीएचसी व नागरिक अस्पतालों में किया जाएगा। उन्होंने कोवि-सिल्ड और को-वैक्सीन के बारे में कहा कि दोनों वैक्सीन अच्छी व सुरक्षित हैं।उन्होंने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए सार्वजनिक स्थानों पर फेस मास्क तथा उचित शारीरिक दूरी की पालना आवश्यक है। स्वास्थ्य सुरक्षा के तहत अपने हाथों को सेनेटाइज करें, अथवा साबुन से धोएं ।

डॉ बनवारी लाल ने वैक्सीन लगवाने वाले लोगों से मुलाकात की तथा एक-दूसरे के अनुभव सांझा भी किए। लोगों ने डॉ बनवारी लाल को बताया कि वैक्सीन लगवाने के बाद हमें कोई परेशानी नहीं है।इस मौके पर पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए सहकारिता मंत्री ने कहा कि हरियाणा में लॉकडाउन लगाने जैसी स्थिति फिलहाल नहीं है। यहां के लोग जागरूक हैं, और सैनिटाईजेशन-मास्क-सोशल डिस्टेंसिंग (एसएमएस) का पालन कर रहे हैं।

Next Story