Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

वन्यजीव की ममता आगे वन विभाग विवश, पिंजरे में कैद भालू को छोड़ना पड़ा

पिछले तीन दिनों से रामजतन के घर के आसपास उक्त भालू देखे गए थे।आज सुबह घर के लोगों ने बाड़ी में भालू को देखा फिर फॉरेस्ट विभाग को सूचना दी। फारेस्ट कर्मी पिंजरा लेकर पहुँचे और भालू का बच्चा पिजरे में कैद हो गया। पढ़िए पूरी खबर-

वन्यजीव की ममता आगे वन विभाग विवश, पिंजरे में कैद भालू को छोड़ना पड़ा
X

सूरजपुर। आज वन्यजीव के ममता ने पिंजरे में कैद किये बच्चे को छोड़ने पर मजबूर कर दिया। बता दें कि आज सुबह नगर सीमा से लगे ग्राम पर्री के रामजतन कुशवाहा के घर में तीन भालू घुस आए थे। भालू के बच्चे को पिंजरे में कैद कर लिए जाने से उसकी मां ने पिंजरे के सामने डेरा डाल दिया है और वह करीब 8 घण्टे से पिंजरे के सामने बैठी रही, जिससे वन विभाग के साथ आसपास के लोगों के होश उड़े गए। वन विभाग के आला अफसरों ने भालू को बेहोश कर काबू में करने के लिए टीम बुला लिया, लेकिन भालू की माँ के जिद के सामने वे बेबस नज़र दिखाई दिए। गौरतलब है कि पिछले एक महीने से नगर और उसके आसपास तीन भालू आतंक मचाये हुए हैं। पिछले तीन दिनों से रामजतन के घर के आसपास उक्त भालू देखे गए थे।आज सुबह घर के लोगों ने बाड़ी में भालू को देखा फिर फॉरेस्ट विभाग को सूचना दी। फारेस्ट कर्मी पिंजरा लेकर पहुँचे और भालू का बच्चा पिजरे में कैद हो गया। पर उसे छुड़ाने उसकी मां ने वहीं डेरा डाल दिया। जिससे वन विभाग सहित लोगों की मुसीबत बढ़ गई। हालांकि अंत में वन विभाग को माँ के ममता ने विवश कर दिया, भालू के बच्चे को पिंजरे से आज़ाद करने के लिए।

Next Story