Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नक्सलवाद : विपक्ष के आरोपों पर सीएम का जवाब- 'भाजपा के समय जहां-जहां नक्सली थे, वहां हमने खाली करा दिया…'

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को नक्सलवाद प्रभावित राज्यों की बैठक ली। नक्सल प्रभावित राज्यों में से सर्वाधिक प्रभावित छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल इस बैठक में शामिल नहीं हुए। विपक्ष ने सीएम के बैठक में शामिल नहीं होने पर तंज कसते हुए पूछा है कि क्या छत्तीसगढ़ में नक्सल समस्या समाप्त हो गई? पढ़िए पूरी खबर-

नक्सलवाद : विपक्ष के आरोपों पर सीएम का जवाब- भाजपा के समय जहां-जहां नक्सली थे, वहां हमने खाली करा दिया…
X
भूपेश बघेल, मुख्यमंत्री, छत्तीसगढ़ शासन

रायपुर। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को नई दिल्ली में नक्सल प्रभावित राज्यों की बैठक ली। इस बैठक में नक्सलियों पर प्रहार करने के साथ प्रभावित क्षेत्रों के विकास को लेकर एक्शन प्लान तैयार किया गया, लेकिन इस बैठक में नक्सलियों के गढ़ कहे जाने वाले छत्तीसगढ़ के मुखिया सीएम भूपेश बघेल शामिल नहीं हुए। सीएम बघेल ने बैठक में शामिल नहीं होने के सवाल पर कहा कि डीजीपी और मुख्य सचिव बैठक में शामिल हुए हैं। मेरे बैठक में शामिल नहीं होने को राजनीतिक चश्में से नहीं देखा जाना चाहिए। सीएम ने कहा कि भाजपा सरकार में जहां-जहां नक्सली थे, उनको हमने खाली करा दिया है। धुर नक्सली इलाके जगरगुंडा, सिलगेर, तर्रेम आदि में लोग कैम्प में आ रहे हैं। स्थानीय लोगों को सरकारी योजनाओं का लाभ मिल रहा है।

गौरतलब है कि भाजपा ने नक्सल प्रभावित राज्यों की बैठक में सीएम बघेल के भाग नही लेने पर निशाना साधा है। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि नक्सलवाद को लेकर सरकार गंभीर नहीं है। नक्सल गतिविधियों को कम करने में कैसे सहयोग मिले केंद्र से, इस पर चर्चा होती है, पर कांग्रेस की सरकार केंद्र सरकार से चर्चा नही करती। छग में नक्सली गतिविधियां कांग्रेस सरकार आने के बाद ही बढ़ी है। भाजपा कांग्रेस पर हमेशा से माओवादियों नक्सलियों के प्रति सॉफ्ट कॉर्नर रखने के आरोप लगाए है। हालांकि राज्य की कांग्रेस सरकार का दावा है कि छत्तीसगढ़ में नक्सली गतिविधियां कोंटा, बीजापुर और नारायणपुर के कुछ हिस्सों तक सिमट गई है। बस्तर में हो रहे विकास कार्यों से नक्सल समस्या धीरे धीरे समाप्त हो रही है।

Next Story