Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नए साल के आयोजन पर संकट के बादल, ना प्रशासन की अनुमति, ना आयोजकों की रूचि

नए साल के जश्न को लेकर गाइडलाइन जारी नहीं होने से कार्यक्रम करने वाले भी रुचि नहीं ले रहे हैं। साल 2022 आने में सिर्फ सप्ताहभर का वक्त बच गया है, लेकिन जश्न का आयोजन करने वाले सिर्फ चार आयोजकों ने आवेदन किया है। उन्होंने भी होटलों में कार्यक्रम करने की अनुमति मांगी है। हालांकि इन्हें अब तक अनुमति नहीं मिली है। पढ़िए पूरी ख़बर..

नए साल के आयोजन पर संकट के बादल, ना प्रशासन की अनुमति, ना आयोजकों की रूचि
X

रायपुर: राजधानी में साल 2022 के जश्न पर संकट के बादल मडराने लगे हैं। प्रशासन की तरफ से जश्न को लेकर गाइडलाइन नहीं बनाई गई और न ही कार्यक्रमों का आयोजन करने वालों को अनुमति मिल रही है। जबकि नए साल के जश्न में सिर्फ सप्ताहभर का वक्त बचा है। ऐसे में अगर एक-दो दिन में नए साल के कार्यक्रमों को लेकर स्थिति साफ नहीं होगी, तो दूसरे राज्यों के कलाकारों को बुलाना कठिन होगा।

दरअसल, 31 दिसंबर को रायपुर समेत राज्यभर में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। इनमें न सिर्फ छत्तीसगढ़ बल्कि महाराष्ट्र, दिल्ली जैसे मेट्रो सिटी से कलाकारों को बुलाया जाता है। इसकी तैयारी 31 दिसंबर से 15 दिन पहले ही शुरु हो जाती है। इस बार अब तक प्रशासन से अनुमति नहीं मिलने की वजह से एक भी इवेंट कंपनी की बुकिंग नहीं हो सकी है।

500 लाेग हाे सकेंगे शामिल

अफसरों के मुताबिक साल 2022 के जश्न पर कोई भी आयोजन खुले में या सार्वजनिक जगह पर होने की संभावना नहीं है। इस बार भी आयोजन में 400 से 500 लोगों के ही शामिल होने की संभावना है। कार्यक्रम में शामिल लोगों की वीडियोग्राफी और सीसीटीवी कैमरों का भी इंतजाम करना होगा। साथ ही, रजिस्टर में सभी लोगों के नाम, पते और फोन नंबर लिखने होंगे। कार्यक्रम स्थल पर सैनिटाइजर, थर्मल स्कैनिंग, ऑक्सीमीटर, हैंडवॉश और क्यू मैनेजमेंट सिस्टम की व्यवस्था की जानी अनिवार्य करनी होगी। हालांकि अभी तक गाइडलाइन जारी नहीं की गई है।

35 मिनट तक फोड़ सकेंगे पटाखे

इस बार साल 2022 का कार्यक्रम रात साढ़े 12 बजे तक खत्म करना होगा। रात 11:55 से 12:30 तक पटाखे फोड़ने की अनुमति रहेगी। वह भी सिर्फ ग्रीन पटाखे ही फोड़े जा सकेंगे।

पुलिस बल का पुख्ता इंतजाम

अफसराें के मुताबिक नए साल के जश्न को लेकर पुलिस ने होमवर्क शुरु कर दिया है। इस बार भी करीब 2 हजार से अधिक पुलिस बल को ड्यूटी पर तैनात किया जाएगा। नशेड़ी वाहन चालकों पर शिकंजा कसने पुलिस पुख्ता इंतजामात करेगी, ताकि शहर में किसी तरह का हुड़दंग और हादसा न हो सके।

Next Story