Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

यूपीएससी की तैयारी कर रहे छात्र को ट्रेनी डीएसपी ने बेरहमी से पीटा, पीड़ित ने सीएम से लगाई न्याय की गुहार

बिहार के पटना में पुलिस का क्रूर चेहरा उजागर हुआ है। यहां पर पुलिस वालों ने लॉकडाउन के दौरान पिता-पुत्र पर कहर बरपाया। पीड़ित पिता-पुत्र ने सीएम नीतीश कुमार समेत तमाम बड़े अधिकारियों से मामले की शिकायत कर न्याय की गुहार लगाई है।

patna police did brutal torture on father and son during lockdown bihar crime news in hindi
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार (Bihar) के पटना (Patna) जिले में पुलिस ने बड़ी ही शर्मनाक हरकत (Shameful act) हो अंजाम दिया है। जिससे पूरा पुलिस विभाग (Police Department) शर्मसार हो गया है। ऐसी हरकतों को कुछ ही पुलिस कर्मी अंजाम देते हैं, लेकिन शर्मसार पूरा विभाग होता है। अब ऐसी ही एक वारदात पटना से सामने आई है। पटना पुलिस के एक ट्रेनी डीएसपी (DSP) की गुंडई की चर्चाओं में है और पूरे पालीगंज के क्षेत्र में सुर्खियां बटोर रही हैं। पूरी घटना पटना जिले के पालीगंज क्षेत्र से सामने आई है।

पालीगंज के ट्रेनी डीएसपी राजीव कुमार सिंह और उनकी टीम पर पिता-पुत्र ने बड़े ही गंभीर आरोप लगाए हैं। आरोप के अनुसार इन पुलिस कर्मियों ने बाप बेटे की बड़ी बेरहमी से पिटाई कर दी। साथ ही दोनों को घसीटते हुए थाने लेकर पहुंचे। पुलिस वालों ने दोनों को कई घंटे तक हाजत मे बंद रखा। आरोप है कि पुलिस कर्मियों ने हाजत में ही पिता-पुत्र की बेरहमी से पिटाई की। इसके बाद से पूरे क्षेत्र में पुलिसिया रॉब (Police Rob) से हड़कंप है और इस हरकत पर लोग हतप्रभ एवं दंग हैं।

जानकारी के अनुसार जख्मी युवक पालीगंज बाबा बोरिंग रोड मोहल्ले का रहने वाले भूषण वर्मा और उनके पुत्र विकास कुमार, जोकि यूपीएससी की तैयारी के लिए 23 मई को संपूर्ण क्रांति ट्रेन से दिल्ली को जाने वाले थे। इसलिए ये पिता-पुत्र कुछ जरूरी चीजों की खारीदारी के लिए सुबह एक दुकान पर सड़क किनारे बाइक लगाकर समान की खरीददारी कर रहे थे। उस वक्त तेज गति से जा रही एक स्कॉर्पियो ने बाइक को टक्कर मार दी।

बाइक में टक्कर लगने पर स्कॉर्पियो को रुकवाकर बाप-बेटा उससे पूछताछ कर ही रहे थे कि पालीगंज थाने के प्रशिक्षु डीएसपी राजीव कुमार सिंह और एसआई प्रदीप कुमार ने दलबल के साथ मौके पर पहुंचे। जहां से वो युवक विकास कुमार व उसके पिता भूषण वर्मा को पकड़ कर गाली गलौज करने लगे।

इस हरकत का बाप-बेटे ने विरोध किया। इसपर भड़कते हुए ट्रेनी डीएसपी युवक और उसके पिता की सरेआम बीच सड़क पर पिटाई करने लगे। कुछ देर बाद वो पिता-पुत्र को थाने मे लेकर चले गए। वैसे बाद में दोनों को छोड़ दिया गया। वहीं पिटाई की वजह से युवक विकास दिल्ली नहीं जा सका है।

पीड़ित भूषण वर्मा ने इस घटना पर पालीगंज डीएसपी, एसएसपी, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत तमाम संबंधित पदाधिकारियों के पास लिखित शिकायत देकर जांच और कार्रवाई की मांग की है। दूसरी ओर, पालीगंज डीएसपी तनवीर अहमद ने बताया कि मामले में जांच-पड़ताल चल रही है। जांच के बाद मामले में उचित करवाई होगी।

जानकारों का मानना है कि कानून हाथ में लेने का किसी को हक नहीं है। थाने में आरोपियों की पिटाई करना गैरकानूनी है। इस तरह की पुलिसिया कार्रवाई गैर संवैधानिक है। ऐसे पुलिस पदाधिकारियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए।

और पढ़ें
Next Story