Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

केंद्रीय मंत्री के इलाके में आज भी सड़क नहीं, मजबूरी में कंधे पर बैठकर बारात लेकर निकले दूल्हे राजा

बिहार के बक्सर जिले से एक हैरान कर देने वाली तस्वीर सामने आई है। यहां पर दुल्हन लेने के लिए बारात लेकर जा रहा दूल्हा दूसरे के कंधे पर जाता हुआ दिखाई दे रहा है। जिसका कहना है कि उसने जन्म के बाद से अब तक अपने गांव में सड़क नहीं देखी है।

buxar groom did ride of solder for marriage in buxar area of central minister ashwini choubey video viral bihar news in hindi
X

बक्सर की वायरल तस्वीर

बिहार (Bihar) के बक्सर (Buxar) जिले में बारात का एक हैरान कर देने वाला वीडियो वायरल (video of procession goes viral) हुआ है। आम तौर पर देखा जाता है कि दूल्हा (Groom) शादी करने के लिए गाड़ी या फिर घोड़ी पर सवार होकर अपने घर से निकलता है। पर इस शादी में दूल्हा ना ही घोड़ी पर सवार हुआ और ना ही किसी कार या अन्य गाड़ी पर देखा जा रहा है। बल्कि दूल्हे राजा को दूसरा शख्स अपने कंधे पर बैठाकर बारात के लिए उसके घर से (groom sitting on shoulder) निकल रहा है। यह हैरान करने वाला पूरा मामला केंद्रीय मंत्री एवं बक्सर से भाजपा सांसद अश्विनी कुमार चौबे (Union Minister and BJP MP from Buxar Ashwini Kumar Choubey) के क्षेत्र से सामने आया है।

इस मामले पर बक्सर जिले के चौगाई प्रखंड के नाप पंचायत स्थित पुरैना गांव निवासी दूल्हा अपनी मजबूरी बताते हुए कहता कि आजादी के 73 साल गुजर जाने के बाद भी उसके गांव में पक्की सड़क नहीं बन पाई है। उसका कहना है कि परिणाम ये रहा है यदि बारिश हो जाए तो कोई भी इंसान चाहकर भी किसी भी वाहन से यहां पर कहीं के लिए आ-जा नहीं सकता है। इस मजबूर दूल्हे का नाम सीडू बताया जा रहा है। दूल्हे सीडू का कहना है कि मैंने जब से होश संभाला है। तभी से अपने गांव में सड़क नहीं देखी है। इसलिए बारिश होने के बाद कीचड़ व मिट्टी की वजह से मुझको शादी करने के लिए भी किसी के कंधे पर सवार होकर जाना पड़ रहा है।


वायरल वीडियो में दूल्हे साथ-साथ घर के अन्य लोग एवं महिलाएं भी कीचड़ वाले रास्ते से ही किसी तरह निकलते हुए दिखाई दे रहे हैं। ग्रामीण का कहना है कि पुरैना गांव के लिए पक्की सड़क आज भी एक सपने जैसा है। बारात लेकर जा रहे दूल्हे सीडू ने बताया कि बारिश होने पर हर बार गांव की ऐसी ही दुर्दशा हो जाती है। पर कोई जनप्रतिनिधि इस दिक्कत पर ध्यान नहीं देता है।

Next Story