Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

निकिता तोमर हत्याकांड मामले में पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में हुई सुनवाई

तौसीफ ने अपनी याचिका में आरोप लगाया है कि उनके खिलाफ जो कार्रवाई की जा रही है वो राजनीति से प्रेरित है और लव जिहाद के नाम पर उन्हें फसाया जा रहा है।

निकिता तोमर हत्याकांड मामले में पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में हुई सुनवाई
X

निकिता तोमर हत्याकांड

बहुचर्चित निकिता तोमर हत्याकांड मामले में पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट में सुनवाई हुई। हाईकोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है दरअसल मामले में मुख्य आरोपी तौसीफ ने हाई कोर्ट में याचिका दाखिल कर इस मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की है।

हाईकोर्ट में तौसीफ की पैरवी कर रही वकील महक साहनी ने बताया कि तौसीफ ने हाई कोर्ट में याचिका दाखिल कर पुलिस कमिश्नर पर पक्षपात करने का आरोप लगाया है। तौसीफ ने अपनी याचिका में आरोप लगाया है कि उनके खिलाफ जो कार्रवाई की जा रही है वो राजनीति से प्रेरित है और लव जिहाद के नाम पर उन्हें फसाया जा रहा है। वकील महक ने बताया कि वीडियो में आरोपी का मुंह पूरी तरह से कवर है गाड़ी की नंबर प्लेट कोई भी बदल सकता है ऐसे में जल्दबाजी करते हुए पुलिस ने वीडियो देखकर तौसीफ को गिरफ़्तार कर लिया।

याचिकाकर्ता की वकील महक साहनी ने बताया कि याचिका में निष्पक्ष जांच की मांग की गई है साल 2018 में दी शिकायत पर भी जोर दिया गया है जिसमें मृतका ने कहा था कि वह अपनी मर्जी से तौसीफ को मिलने गई थी उन्होंने कहा कि याचिका में यह भी कहा गया कि यह मामला ऑनर किलिंग का है क्योंकि तौसीफ के पास कोई कारण नहीं है कि वह निकिता की हत्या करे। वकील साहनी ने बताया कि आज दोनों पक्षों ने अपनी बहस पूरी कर ली है जिसके बाद हाई कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया है उन्होंने बताया कि हरियाणा पुलिस ने भी अपना सिनोप्सिस सबमिट कर दिया है।

गौरतलब है हरियाणा के बल्लभगढ़ में परिवार के साथ रह रही उत्तर प्रदेश के हापुड़ निवासी निकिता तोमर अग्रवाल कॉलेज में बीकॉम फाइनल ईयर की छात्रा थी 26 अक्टूबर 2020 को शाम करीब 3:45 जो वह परीक्षा देकर कॉलेज के बाहर निकली। आरोप हैओ सोहना निवासी तौसीफ ने अपने दोस्त से मिलकर निकिता को कार में अगवा करने की कोशिश की। विरोध करने पर तौसीफ ने निकिता को गोली मार दी थी अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी। बता दे मामले की गंभीरता को देखते हुए सरकार ने इसकी जांच एसआईटी को सौंप दी एसआईटी की टीम ने जांच में 5 घंटे के अंदर मुख्य आरोपी तौसीफ को गिरफ्तार कर लिया है उसके साथ रेहान और हथियार उपलब्ध कराने वाले अजरू को भी पुलिस ने पकड़ा तमाम साक्ष्य और सबूतों को एकत्र करके महेश 11 दिन में ही 600 पेज की चार्जशीट तैयार करके 6 नवंबर को कोर्ट में दाखिल कर दी चार्जशीट में निकिता की सहेली समेत कुल 60 गवाह बनाए गए हैं।

Next Story